इंदौर के मंदिर में हुए हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 35 हुई, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

मध्य प्रदेश के इंदौर हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 35 हो गई है। गुरुवार को रामनवमी के मौके पर पूजा के दौरान बेलेश्वर महादेव झूलेलाल मंदिर में बावड़ी की छत धंसने के बाद लोग बावड़ी में जा गिर थे। तभी से रेसक्यू ऑपरेशन जारी है। इंदौर के डीएम ने ताजा जानकारी देते हुए बताया कि 16 लोग घायल हैं जिनका इलाज जारी है। एक व्यक्ति अभी भी लापता है, जिसकी तलाश जारी है।इंदौर के डीएम ने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन में आर्मी के लगभग 75 लोग लगे हैं। NDRF और SDRF की टीमें तैनात हैं। कुआं बहुत पुराना और गहरा था जिस कारण बचाव कार्य में समय लग रहा है। लगातार पानी आ रहा था जिसे हम निकाल रहे हैं।#UPDATE 16 लोग घायल हैं जिनका इलाज जारी है। 35 लोगों के मृत्यु की पुष्टि हुई है। एक व्यक्ति अभी भी लापता है। आर्मी के लगभग 75 लोग आए हैं। NDRF और SDRF की टीमें तैनात हैं। कुआं बहुत पुराना और गहरा था जिस कारण बचाव कार्य में समय लग रहा है। लगातार पानी आ रहा था जिसे हम निकाल रहे… pic.twitter.com/dvP7VsflwJ— ANI_HindiNews (@AHindinews) March 31, 2023

गुरुवा को राज्य सरकार ने हादसे की जांच के आदेश दिए थे। साथ ही सरकार ने मुआवजे का भी ऐलान किया था। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि घटना में दिवंगत लोगों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपए की राहत राशि प्रदान की जाएगी। घायलों को नि: शुल्क इलाज के साथ 50 हजार रुपये की सहायता दी जाएगी।इंदौर में रामनवमी का उत्सव उस समय मातम में बदल गया, जब बेलेश्वर महादेव झूलेलाल मंदिर में करीब 50-60 फीट गहरी और पानी से भरी बावड़ी की छत धंस गई और उस पर बैठे कई लोग नीचे गिर गए। हादसे के बाद घटनास्थल पर चीख-पुकार मच गया। हादसे की जानकारी मिलते ही प्रशासनिक अमला और राहत बचाव दल मौके पर पहुंचा और बावड़ी में गिरे लोगों को निकालने का अभियान शुरू किया गया। हालांकि जिस स्थान पर हादसा हुआ वह काफी संकरा है, जिससे बचाव अभियान में काफी बाधा का सामना करना पड़ रहा है।