Savarkar को लेकर महाराष्ट्र गठबंधन में फिर दिखी दरार, राहुल के बयान पर बोले संजय राउत, बर्दाश्त नहीं करेंगे अपमान

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के सावरकर को दिए बयान को लेकर सिसायत बेहद गर्म हो गई है। शिवसेना (यूबीटी) के नेता संजय राउत ने राहुल को बयान को गलत बताते हुए कहा कि वह निश्चित रूप से गांधी हैं लेकिन सावरकर को घसीटने की जरूरत नहीं है। सावरकर हमारी प्रेरणा हैं। महाराष्ट्र में हमारी लड़ाई के पीछे प्रेरणा छत्रपति शिवाजी महाराज हैं और वीर सावरकर हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या वह इस मुद्दे पर दिल्ली में राहुल गांधी से आमने-सामने बात करेंगे उन्होंने कहा कि मैं निश्चित रूप से उनसे बात करने की कोशिश करूंगा।इसे भी पढ़ें: Maharashtra: उद्धव ठाकरे की राहुल गांधी को चेतावनी, सावरकर हमारे आदर्श, उनका अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगेराहुल गांधी ने मोदी सरनेम को लेकर हुई कार्रवाई के बाद अपनी सदस्यता गंवाने को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि मेरा नाम सावरकर नहीं, मेरा नाम गांधी है। गांधी किसी से माफी नहीं मांगते हैं।  वायनाड के पूर्व सांसद के बायन को लेकर भाजपा और शिवसेना की कड़ी प्रतिक्रिया सामने आई। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी गांधी को चेतावनी दी थी कि सावरकर को नीचा दिखाने से विपक्षी गठबंधन में “दरारें” पैदा होंगी। उद्धव ने कहा कि सावरकर ने 14 साल तक अंडमान सेलुलर जेल में अकल्पनीय यातनाएं झेलीं। हम केवल पीड़ाओं को पढ़ सकते हैं। यह बलिदान का एक रूप है। हम सावरकर का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे।इसे भी पढ़ें: Mumbai: सीएसटीएम पर लोहे के ढांचे पर चढ़ा शख्स, जान देने की धमकी दीबता दें कि राहुल गांधी अक्सर भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक वीडी सावरकर को निशाना बनाकर उन पर हमला करते रहे हैं। पिछले साल नवंबर में गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कहा था कि सावरकर अंडमान सेलुलर जेल से मुक्त होने के लिए दया याचिका लिखने की बात कहते हुए कहा था कि उन्होंने अंग्रेजों से पेंशन भी स्वीकार किया। उन्होंने यह भी दावा किया कि सावरकर ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान ब्रिटिश सरकार की मदद की थी, जिसके कारण भाजपा और शिवसेना कार्यकर्ताओं ने विरोध किया था।