‘नौकरियों में इस समुदाय को मिले आरक्षण’ देश की पहली ट्रांसजेंडर जज की मांग

देश की पहली ट्रांसजेंडर जज जोइता मंडल इंदौर के एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए पहुंचीं. इस दौरान उन्होंने जहां ट्रांसजेंडर की विभिन्न समस्याओं से समाज के अन्य वर्गों को रूबरू करवाया, तो वहीं बातों ही बातों में सरकार से रिजर्वेशन की एक मांग भी रख दी. उन्होंने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि ट्रांसजेंडरों को विभिन्न विभागों में अपने काम करवाने के लिए विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ता है. यदि सरकार ट्रांसजेंडरों को रिजर्वेशन दे देगी तो निश्चित तौर पर उनकी समस्या का समाधान हो जाएगा.
जोइता मंडल ने कहा कि थर्ड जेंडर आज तमाम तरह की मुश्किलों से गुजर रहा है. इस समुदाय के लोगों को समाज की मूल धारा से जोड़ने की आवश्यकता है, ताकि वह अपना जीवन सुखमय तरीके से बिता सकें. थर्ड जेंडर को रिजर्वेशन की आवश्यकता है. साथ ही रहने के लिए घर और शेल्टर होम देने की आवश्यकता है. यदि पश्चिम बंगाल के बात की जाए तो वहां 5 लाख ट्रांसजेंडर हैं.
ट्रांसजेंडर को दें सम्मान
जोइता कहती हैं कि सरकार द्वारा एक पोर्टल लॉन्च किया जा रहा है, जिसके माध्यम से ट्रांसजेंडर उस पर अपना रजिस्ट्रेशन करा पाएंगे. उन्होंने कहा किकई बार ट्रांसजेंडर को लेकर हल्की बात की जाती है तो यह ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को भा चाहिए कि वह ट्रांसजेंडर को सम्मान की दृष्टि से देखें.
सरकार को बिल बनाना चाहिए
उन्होंने कहा कि जब हमें रिजर्वेशन मिल जाएगा तो ट्रांसजेंडर भी अन्य विभागों में नौकरियां कर पाएंगे. ट्रांसजेंडर को आगे बढ़ाने के लिए सरकार को बिल बनाना चाहिए. जिस तरह से महिला और पुरुषों को समान अधिकार दिया जा रहा है. उसी तरीके से एक बिल पास करवा कर ट्रांसजेंडर को भी हक देना चाहिए. उन्हें समाज का ही एक अंग समझें.
ट्रांसजेंडरों को करें प्रोत्साहित
जोइता मंडल के मुताबिक, ट्रांसजेंडरों को भी भारतीय राजनीति में जगह मिलनी चाहिए. उनको प्रोत्साहित करना चाहिए ताकि वह भी विधायक और सांसद का चुनाव लड़ सकें. बता दें कि हाल के वर्षों में ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को आगे बढ़ाने के लिए लगातार उन्हें आरक्षण देने की मांग उठ रही है.