कोरोना@BF.7: बढ़ रहा खौफ, किस राज्य में क्या सख्ती, एक्सपर्ट क्या बता रहे, जानें सब

नई दिल्ली: चीन समेत दुनिया के कई देशों में कोरोना मामलों में उछाल और नए वैरिएंट BF.7 की देश में दस्तक देने के बाद केंद्र और राज्य सरकारें भी अलर्ट मोड में आ गई हैं। बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने अधिकारियों के साथ कोरोना की समीक्षा बैठक की। इसके बाद कई राज्यों में भी कोविड को लेकर बैठकें की गई और कई प्रतिबंध लागू करने के ऐलान किए गए। गुरुवार को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ कोविड को लेकर अहम चर्चा करेंगे। लेकिन कोविड-19 को देखते हुए देशभर में क्या-क्या प्रतिबंध लगाए गए हैं, यहां जानिए।

एयरपोर्ट पर यात्रियों की होगी कोरोना जांच

कोविड-19 को देखते हुए बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद लोगों को भीड़-भाड़ वाली जगहों पर मास्क पहनने की सलाह दी गई। इसके अलावा विदेश से आने वाले यात्रियों की रैंडम सैंपलिंग को भी शुरू करने का फैसला लिया गया। अब एयरपोर्ट पर विदेशी यात्रियों की कोरोना जांच की जाएगी।

‘भीड़-भाड़ वाले कार्यक्रम में शामिल होने से बचें’चीन समेत कई देशों में कोविड के बढ़ते मामलों के देखते हुए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने लोगों से तत्काल प्रभाव से कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की। आईएमए ने सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की सलाह दी। इसके अलावा लोगों को बार-बार हाथ धोने सैनेटाइज करने की भी सलाह दी। आईएमए ने कहा कि भीड़-भाड़ वाले कार्यक्रम जैसे शादी, राजनीतिक सभाएं और इस तरह के अन्य कार्यक्रम में शामिल होने से बचें।

संसद में मास्क की वापसी
कोरोना के खतरे को देखते हुए संसद में सभी सांसदों को सदन में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। गुरुवार को लोकसभा और राज्यसभा में स्पीकर समेत सभी सदस्य मास्क पहने नजर आए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने आज सदन में कहा कि पिछले कुछ दिनों से दुनिया में कोविड के मामले बढ़ रहे हैं लेकिन भारत में मामले कम हो रहे हैं। हम चीन में बढ़ते कोविड मामलों और इससे होने वाली मौतों को देख रहे हैं और उसी के अनुसार कदम उठा रहे हैं। राज्यों को सलाह दी जा रही है कि वे कोविड-19 के नए वेरिएंट की समय पर पहचान करने के लिए जीनोम सीक्वेंसिंग बढ़ाएं। कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। फिलहाल औसतन 153 केस सामने आ रहे हैं। जबकि पूरी दुनिया में इन दिनों औसतन 5 लाख 87 हजार के रोजाना आ रहे हैं।

यूपी में हर पॉजिटिव केस की जीनोम सिक्वेंसिंगउत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी कोरोना को लेकर निर्देश जारी किए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कोरोना को लेकर टीम 9 के साथ अहम बैठक की। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि लोग भीड़भाड़ वाली जगहों पर बगैर मास्‍क न निकलें। उन्‍होंने सभी अस्‍पतालों को निर्देश दिया कि वे कोरोना के नए वैरिएंट पर नजर रखें। साथ ही हर पॉजिटिव केस की जीनोम सिक्वेंसिंग कराने के भी निर्देश दिए गए हैं।

सभी लोग लगवाएं बूस्टर डोज- सीएम धामीउत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देहरादून में कोरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ हाई लेवल की बैठक की। इस बैठक में राज्य में कोविड-19 की रोकथाम को लेकर चर्चा की गई। सीएम ने निर्देश दिए कि राज्य में सभी लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। कोरोना पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा, ‘हमारा पूरा फोकस है कि सावधानी बरती जाएगी और जागरूकता बढ़ाई जाएगी। सभी से हमारा अनुरोध है कि बूस्टर डोज लगवाएं। भारत सरकार के जो भी दिशा निर्देश हैं उसके आदेशों के क्रम में हम यहां पर भी कार्रवाई करेंगे।’

बिहार के अस्पतालों में अलर्ट जारीकेंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन जारी होने के बाद बिहार सरकार भी अलर्ट मोड में आ गई। राज्य के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने तैयारी पूरी होने की बात कही है वहीं, स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव ने जिला अस्पतालों को अलर्ट रहने को कहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक और बड़ा फैसला लेते हुए राजधानी पटना सहित बिहार के अन्य इलाकों में हाट बाजार, बस स्टैंड और मॉल में रैंडम टेस्ट कराने की प्लानिंग की जा रही है।