दो FIR, एजेंसी का कॉन्ट्रेक्ट खत्म, पटना जंक्शन के TV स्क्रीन पर अश्लील क्लिप चलने के मामले में एक्शन तेज

पटना: पटना जंक्शन (Patna Junction) अचानक ही सुर्खियों में आ गया है। दरअसल, इस रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 10 पर लगे टीवी स्क्रीन पर रविवार को एक अश्लील वीडियो क्लिप चल गई थी। करीब तीन मिनट तक चले इस क्लिप को लेकर महकमे में हड़कंप मच गया। तुरंत ही इस मामले में जांच शुरू हुई, यही नहीं अब कार्रवाई भी की जा रही है। पूर्व मध्य रेलवे (ECR) के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (CPRO) ने बताया इस केस में दो एफआईआर दर्ज कराई गई है। यही नहीं उस स्क्रीन पर विज्ञापन प्रसारित करने वाली एजेंसी का कॉन्ट्रेक्ट भी रद्द कर दिया गया है।ECR के CPRO ने बताया अब तक क्या-क्या हुआपूर्व मध्य रेलवे के CPRO वीरेंद्र कुमार ने कहा कि एजेंसी के खिलाफ रेलवे सुरक्षा बल (RPF) और राजकीय रेलवे पुलिस (GRP) की ओर से एक-एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि 19 मार्च को पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म संख्या 10 पर घिनौनी घटना हुई। ECR ने इसे बेहद गंभीरता से लिया और तुरंत ही संबंधित एजेंसी ‘दत्ता स्टूडियो कंपनी प्राइवेट लिमिटेड’ के खिलाफ दो प्राथमिकी दर्ज की गई है। एक प्राथमिकी आरपीएफ ने और दूसरी जीआरपी ने आईटी अधिनियम के तहत दर्ज कराई। एजेंसी का कॉन्ट्रेक्ट खत्म, ब्लैक लिस्ट करने की भी तैयारीECR की ओर से जारी बयान में बताया गया कि एजेंसी का ठेका समाप्त कर उसे ब्लैक लिस्ट में डालने की कार्रवाई की जा रही। यही नहीं उसकी ओर से संचालित सभी टीवी स्क्रीन को डिसकनेक्ट/लॉगआउट कर दिया गया है। घटना की जांच आरपीएफ और जीआरपी की ओर से की जा रही है, जिससे आगे कानूनी कार्रवाई की जा सके। पूरा घटनाक्रम पटना जंक्शन के भीड़भाड़ वाले प्लेटफॉर्म पर उस समय हुआ जब काफी लोग वहां मौजूद थे। 3 मिनट तक रेलवे के अनाउंसमेंट TV स्क्रीन पर चली थी क्लिपरेलवे के अनाउंसमेंट टीवी स्क्रीन पर अश्लील वीडियो क्लिप चलने से वहां मौजूद लोगों अजीब स्थिति का सामना करना पड़ा। ट्रेन में सवार होने या अपने रिश्तेदारों को लेने के लिए पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म पर इंतजार कर रही महिलाओं समेत सैकड़ों यात्रियों को समझ नहीं आ रहा था आखिर क्लिप कैसे चल गई। अश्लील क्लिप करीब तीन मिनट तक डिस्प्ले पर रही। फिर यात्रियों की शिकायत के बाद इसे रोका गया। पटना जंक्शन के TV स्क्रीन ऑपरेटर की तलाश तेजदानापुर आरपीएफ के वरिष्ठ कमांडेंट प्रकाश कुमार पांडा के मुताबिक, पटना आरपीएफ तुरंत कार्रवाई में जुट गई। जंक्शन पर यात्री ट्रेनों के आगमन और प्रस्थान के बारे में टीवी स्क्रीन पर नियमित जानकारी के लिए कोलकाता की एक एजेंसी को कॉन्ट्रेक्ट दिया गया था। उन्होंने कहा कि रेलवे ने एजेंसी के कॉन्ट्रेक्ट को रद्द कर दिया है और मामले में आगे की जांच के लिए अधिकारियों को पटना आरपीएफ पोस्ट पर तलब किया है। शर्मनाक घटना के बाद से पटना जंक्शन का ऑपरेटर फरार है। हालांकि आरपीएफ के जवान उसकी तलाश कर रहे हैं।