असम में निर्माण गतिविधियों से बड़े पैमाने पर रोजगार का सृजन हुआ: Chief Minister Himanta

मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने कहा कि असम में जारी निर्माण गतिविधियों के कारण राज्य में बड़े पैमाने पर रोजगार का सृजन हुआ है।
उन्होंने कहा कि अपेक्षित कौशल की कमी के कारण रोजगार की तलाश में युवा दूसरे राज्यों की ओर पलायन कर रहे हैं और वहां कम वेतन वाली नौकरियां कर रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने बुधवार को धेमाजी जिले के गोगामुख में एक कौशल प्रशिक्षण केंद्र के उद्घाटन के अवसर पर यह बात कही। उन्होंने राज्य के युवाओं के नए जमाने और आधुनिक तकनीकी कार्यों में प्रशिक्षित होने की आवश्यकता पर जोर दिया, ताकि वे देश-विदेश में उपलब्ध लाभकारी नौकरी के अवसरों के लिए खुद को तैयार कर सकें।
असम सरकार ने पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के कौशल को बढ़ाने, निर्माण उद्योग में प्रशिक्षित संसाधनों को संरेखित करने और प्रशिक्षुओं को भविष्य के कौशल और आधुनिक तकनीक से जोड़ने के उद्देश्य से केंद्र स्थापित करने के लिए लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) के साथ हाथ मिलाया है।
शर्मा ने युवाओं से खुद को सौर प्रौद्योगिकी में प्रशिक्षित करने की भी अपील की ताकि क्षेत्र में रोजगार और कमाई के अवसर उनके हाथ से न निकल पाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अभियांत्रिकी कंपनी इस सुविधा केंद्र में 90 दिवसीय प्रशिक्षण पूरा करने वालों को रोजगार के अवसर भी प्रदान करेगी।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार नलबाड़ी और जोरहाट जिलों में भी इसी तरह के सुविधा केंद्र स्थापित करेगी।