प्रशांत और नीतीश के बाद कांग्रेस की यात्रा, कड़ाके की ठंड में भी पसीना क्यों बहा रहे बिहार के नेता?

नील कमल, पटना : लोकसभा चुनाव 2024 में अभी 15 महीने की देरी है। भारतीय जनता पार्टी को चुनाव में शिकस्त देने के लिए तमाम पार्टियां अभी से ही कमर कस चुकीं हैं। चाहे देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस हो या राजनीति में पांव जमाने निकले प्रशांत किशोर। राजनीतिक दलों में यात्रा निकालने की होड़ है। यात्रा निकालने में क्षेत्रीय दल भी पीछे नहीं हैं। बिहार में महागठबंधन सरकार का नेतृत्व कर रहे जनता दल यूनाइटेड के नेता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समाधान यात्रा पर निकल चुके हैं। अखिल भारतीय कांग्रेस बिहार में भारत जोड़ो यात्रा कार्यक्रम की शुरुआत कर रही है। इतना ही नहीं राजनीतिक रणनीतिकार रहे प्रशांत किशोर भी गांधी जयंती के दिन यानी 2 अक्टूबर 2022 से ही जन सुराज यात्रा पर हैं।

बांका से भारत जोड़ो यात्रा की शुरुआत करेंगे खरगे

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा भले ही बिहार से नहीं गुजर रही। लेकिन कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे बिहार के बांका जिले से भारत जोड़ो यात्रा की शुरुआत करने जा रहे हैं। प्रदेश प्रवक्ता राजेश सिंह राठौर ने बताया कि मंदार पर्वत से शुरू हो रही ऐतिहासिक भारत जोड़ो यात्रा की तैयारी पूरी हो चुकी है। आज से शुरू हो रही इस यात्रा में शामिल होने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे पहुंच रहे हैं।

राजेश राठौर ने बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बांका में सभा को संबोधित करने के बाद करीब 7 किलोमीटर पैदल यात्रा भी करेंगे। बिहार में भारत जोड़ो यात्रा 20 जिलों में 1200 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। बांका में मल्लिकार्जुन खरगे यात्रा का नेतृत्व करेंगे। उसके बाद इस यात्रा का नेतृत्व प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह करेंगे। ये यात्रा पहले चरण में 5 जनवरी से शुरू होकर 10 जनवरी तक चलेगी, जो बांका, भागलपुर और खगड़िया तक जाएगी।

बिहार में समाधान यात्रा पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

बिहार में जिस महागठबंधन सरकार का नेतृत्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कर रहे हैं, उसमें कांग्रेस भी शामिल है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष जहां बांका में भारत जोड़ो यात्रा का शुभारंभ करेंगे। वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महात्मा गांधी की कर्मभूमि पश्चिम चंपारण से अपनी यात्रा की शुरुआत कर दी। बिहार में चल रही योजनाओं के विषय में जानकारी लेने के साथ शराबबंदी को लेकर लोगों की राय भी जानने की कोशिश करेंगे।

बताया गया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समाधान यात्रा में किसी प्रकार की सभा का कार्यक्रम नहीं रखा गया है। इसके अलावे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी इस यात्रा के दौरान किसी प्रकार का भाषण भी नहीं देंगे। वे सीधे जनता के बीच जाकर उनकी परेशानी जानने की कोशिश करेंगे। राज्य सरकार की योजनाओं का कितना लाभ उन्हें मिल रहा है, ये जानने की कोशिश करेंगे।

8 जनवरी को मोतिहारी में PK की जन सुराज यात्रा

चुनावी रणनीतिकार रहे प्रशांत किशोर 2 अक्टूबर 2022 से बिहार में जन सुराज यात्रा पर निकले हुए हैं। 8 जनवरी को मोतिहारी में रहेंगे। अपनी यात्रा के दौरान प्रशांत किशोर लगातार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव पर निशाना साध रहे हैं। इसके अलावे बीजेपी पर भी प्रशांत किशोर का हमला जारी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समाधान यात्रा पर टिप्पणी करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा है कि इस बार उनकी यात्रा में अप्रिय घटना घट सकती है।

प्रशांत किशोर ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जहरीली शराब से हुई मौतों का जिस प्रकार से माखौल उड़ाया है। उससे लोगों में उनके खिलाफ रोष है। प्रशांत किशोर ने दावे के साथ कहा कि एक राजनीतिक विश्लेषक होने के नाते ये कह रहा हूं कि जदयू डूबती हुई नाव है। 2005 के पहले जो स्थिति राष्ट्रीय जनता दल के लिए बनी थी, वही स्थिति आज जनता दल यूनाइटेड के लिए बन चुकी है। नीतीश कुमार अगर यात्रा करेंगे तो उस यात्रा में सारे सरकारी अमला और सुरक्षा के बावजूद आपको अप्रिय घटनाएं देखने-सुनने को मिल सकती है।

बीजेपी ने बिहारवासियों को ‘यात्रा’ को लेकर किया अलर्ट

बीजेपी के पूर्व विधायक और प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने बिहारवासियों को भारतीय सेना का अपमान, तुष्टीकरण की राजनीति और भ्रम फैलाने वालों की यात्रा से सचेत रहने की अपील की है। प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ भारत जोड़ो यात्रा निकालने वाली कांग्रेस अब बिहार में भी हिंदुओं को टुकड़ों में बांटने की मंशा के साथ यात्रा निकालने वाली है।

वहीं, सीएम नीतीश के समाधान यात्रा को लेकर प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि वो तुष्टिकरण की राजनीति में इतने अंधे हो चुके हैं। देश हित भी नहीं देख पा रहे। बिहार में शराबबंदी किसी महिला के कहने पर नहीं बल्कि मुसलमानों को खुश करने के लिए की गई थी। क्योंकि इस्लाम में शराब को हराम माना गया है। प्रशांत किशोर पर भी प्रेम रंजन पटेल ने टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर आजकल कांग्रेस के पिच पर बैटिंग कर रहे हैं। इवेंट मैनेजमेंट का काम देखने वाले प्रशांत किशोर दर-दर की ठोकर खाकर अब जन सुराज यात्रा पर निकले हैं। कांग्रेस के कहने पर ही प्रशांत किशोर बीजेपी को लेकर भी जनता के बीच में भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं।