Ayodhya Ram Mandir को लेकर Congress ने खड़ा किया नया विवाद, भगवान रामलला की मूर्ति के रंग पर जताई आपत्ति

अयोध्या स्थित राम मंदिर को लेकर कांग्रेस की ओर से नये विवाद खड़े करने का क्रम जारी है। पहले राम के अस्तित्व पर कांग्रेस ने सवाल उठाया, फिर राम मंदिर निर्माण की राह में बाधा पहुँचाने का प्रयास किया, फिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह का निमंत्रण ठुकराया और अब भगवान की मूर्ति को लेकर नया विवाद खड़ा कर दिया है।हम आपको बता दें कि उत्तराखंड विधानसभा में समान नागरिक संहिता (यूसीसी) विधयेक पर बहस के दौरान उस समय हंगामा मच गया जब कांग्रेस विधायक आदेश चौहान ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा की गयी रामलला की मूर्ति को ‘काला’ बता दिया और उसे लेकर सत्ता पक्ष के सदस्य उत्तेजित हो गए। हम आपको बता दें कि उधमसिंह नगर जिले के जसपुर से विधायक आदेश चौहान ने कहा कि भगवान राम तो सांवले थे लेकिन अयोध्या में आपने उनकी ‘काली’ मूर्ति स्थापित कर दी। उन्होंने कहा, ”हिंदू धर्मग्रंथों के अनुसार, भगवान राम सांवले थे लेकिन आप लोगों ने अयोध्या में मंदिर में उनकी काली मूर्ति लगा दी।’’ इस टिप्पणी पर सत्ता पक्ष के विधायकों ने आपत्ति प्रकट करते हुए हंगामा खड़ा कर दिया। संसदीय कार्यमंत्री प्रेम चंद अग्रवाल ने इसका जमकर विरोध किया और कांग्रेस सदस्य से केवल यूसीसी विधेयक पर ही बोलने को कहा। उन्होंने कहा, ‘‘आप भगवान राम के विरुद्ध अपमानजनक टिप्पणी करना बंद कीजिए।’’ मंत्री ने यह भी कहा कि कांग्रेस तो वह पार्टी है जिसने भगवान राम के अस्तित्व को ही नकार दिया था। मंत्री और चौहान के बीच यह तीखी नोंकझोंक कुछ देर चलती रही जो विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी के हस्तक्षेप के बाद ही शांत हुई। खंडूरी ने अग्रवाल से अपनी सीट पर बैठने और कांग्रेस सदस्य से यूसीसी के विषय पर ही अपना भाषण केंद्रित करने को कहा।इसे भी पढ़ें: Acharya Pramod Krishnam ने कहा- मुझे PM Modi से मिलने के लिए पांच दिन में समय मिल गया, राहुल गांधी से छह महीने से समय मांग रहा हूँदूसरी ओर, अयोध्या की बात करें तो आपको बता दें कि यहां श्रद्धालुओं के बढ़ते आगमन से स्थानीय अर्थव्यवस्था खूब फल फूल रही है। दुकानदारों को जहां ग्राहकों की भीड़ मिल रही है वहीं होटलों, गेस्ट हाउसों और स्टे होम्स में भी बुकिंग फुल चल रही है। इससे स्थानीय लोग तो खुश हैं ही साथ ही रामनगरी आ रहे श्रद्धालुओं का उत्साह भी देखते ही बन रहा है।