‘जनता को लुभाने के लिए नये-नये वादे कर रही कांग्रेस’, Rajasthan में बोले राजनाथ- हमारे एक भी मंत्री पर भ्रष्टाचार का दाग नहीं

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज राजस्थान के जोधपुर में एक जनसभा को संबोधित किया। मोदी सरकार के 9 साल पूरे होने पर भाजपा लगातार जमसभा कर रही है। इस दौरान राजनाथ सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधा। साध ही साथ राजनाथ ने कहा कि मोदी सरकार के 9 साल पूरे हो गए लेकिन हमारे एक भी मंत्री पर भ्रष्टाचार का कोई दाग नहीं लगा। उन्होंने मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाई और कहा कि आज भारत को पूरी दुनिया गंभीरत से लेती है।  इसे भी पढ़ें: ‘PM Modi ने 10 मिनट में लिया था सर्जिकल स्ट्राइक का फैसला’, राजनाथ सिंह बोले- अगर जरूरत पड़ी तो…बहादुरों और रणबांकुरों की धरतीरक्षा मंत्री ने कहा कि राजस्थान की यह मरूभूमि एक से बढ़कर एक बहादुरों और रणबांकुरों की धरती है। यह दुर्गादास राठौर जैसे महावीरों की धरती है। यह महाराणा प्रताप की धरती है। पन्नाधाय के त्याग-बलिदान और भामाशाह के खुले हृदय से दान की धरती है। उन्होंने कहा कि 1971 की जंग में इस इलाके में भारतीय सेना ने जो पराक्रम दिखाया था उसकी भी यह धरती साक्षी है। कौन भूल सकता है मेजर कुलदीप सिंह चांदपुरी को जिन्होंने लोंगेवाला की लड़ाई में इतिहास रच दिया। राजनाथ ने कहा कि कौन भूल सकता है, इसी जोधपुर के जांबाज योद्धा हनुत सिंह को जिन्होंने बसंतर की लड़ाई में बहादुरी का परिचय देते हुए महावीर चक्र प्राप्त किया।  इसे भी पढ़ें: Modi ने आतंक के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति का मतलब दुनिया को समझायाः Rajnath Singhभ्रष्टाचार का एक आरोप नहींभाजपा नेता ने कहा कि सबसे बड़ी बात तो यह है कि मोदी जी के नौ साल के कार्यकाल में हमारी सरकार के किसी भी मंत्री पर भ्रष्टाचार का एक आरोप नहीं लगा। उन्होंने कहा कि आज भारत में चीन के बाद सबसे अधिक मोबाइल फोन बन रहे हे। साल 2014 में देश के 92 फीसदी मोबाइल विदेशों से आयात होते थे। आज भारत में ही 90 फीसदी मोबाइल का निर्माण हो रहा है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए राजनाथ ने कहा कि राजस्थान सरकार चुनाव नज़दीक आने पर जनता को लुभाने के लिए नये नये वादे किए जा रहे हैं, मगर यहाँ की जनता अपने स्वाभिमान से समझौता नहीं कर सकती।  UCC पर क्या कहाराजनाथ सिंह ने कहा कि हमने कहा था हम समान नागरिक संहिता लागू करेंगे। क्या राजनीति समाज को बांटकर करनी चाहिए? अगर मुसलमान, ईसाई अपने धर्म के अनुसार कुछ करना चाहता है तो क्या हम उसे नहीं करने देंगे? हमने कभी प्रतिबंध नहीं लगाया। हम उसी को लागू करने जा रहे हैं जो संविधान में लिखा है फिर क्यों हमपर आरोप लगाया जा रहा है?