कांग्रेस ने संजय निरुपम को पार्टी से निकाल दिया, जानिए अब क्या हैं उनके पास विकल्प

मुंबई: कांग्रेस ने महाराष्ट्र में पार्टी के उत्तर भारतीय चेहरा संजय निरुपम को निष्कासित कर दिया है। संजय निरुपम मुंबई नार्थ वेस्ट सीट शिवसेना यूबीटी को दिए जाने से नाराज थे। उन्होंने हाईकमान को फिर से विचार करने के लिए सात दिन का समय दिया था। समय पूरा होने पर अब संजय निरुपम ने पार्टी छोड़ने का ऐलान किया है। अब जब पार्टी ने उन्हें निकाल दिया है तब सवाल खड़ा हो है कि संजय निरुपम का अगला कदम क्या होगा? संजय निरुपम शिवसेना छोड़कर कांग्रेस में आए थे। मुंबई नार्थ वेस्ट से लड़ने के इच्छुक संजय निरुपम के पास काफी सीमित विकल्प है। उनके बीजेपी में जाने की आसार बेहद कदम है। राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि संजय निरुपम मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की अगुवाई वाली शिवसेना में शामिल हो सकते हैं। ऐसे में अगर वे शिवसेना में प्रवेश लेते हैं तो इसे घरवापसी के तौर पर पेश कर सकेंगे। इस पार्टी में हो सकते हैं शामिल अगर संजय निरुपम (59) की शिवसेना से डील फिक्स होती है तो फिर मुंबई नार्थ वेस्ट सीट से उद्धव ठाकरे गुट ग्रुप के कैंडिडेट अमोल कीर्तिकर के सामने उतर सकते हैं। शिवसेना यूबीटी की तरफ से कीर्तिकर का नाम घोषित किए जाने के बाद से निरुपम हमलावर हैं। उन्होंने कीर्तिकर को घिचड़ीचाेर तक कह डाला था। शिवसेना काफी समय से इस सीट के मजबूत कैंडिडेट की खोजबीन में जुटी हुई थी। ऐसे में अगर निरुपम पर दांव ठीक बैठता है तो नार्थ वेस्ट सीट पर निरुपम बना कीर्तिकर की लड़ाई संभव है, हालांकि इसमें एक पेच यह है कि मुख्यमंत्री शिंदे पहले से अपने 13 सांसदों को एडजस्ट नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में वह अगर निरुपम को पार्टी में लेते हैं तो विरोध बढ़ सकता है। सूत्रों का कहना है कि मिलिंद देवड़ा के जरिए निरुपम की शिवसेना में बातचीत हुई है। बहुत मुमकिन है वे शिवसेना ही ज्वाइन करें। उन्होंने उद्धव ठाकरे ग्रुप को बची खुची शिवसेना हमला बोला था। अभी तक नहीं किया है ऐलान निरुपम के सीएम शिंदे की अगुवाई वाली शिवसेना में जाने की संभावना इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि पार्टी ने अभी मुंबई नार्थ वेस्ट सीट पर कैंडिडेट का ऐलान नहीं किया है। पार्टी में जब फिल्म अभिनेता गोविंदा शामिल हुए थे, तो यह माना गया था कि वे मुंबई नार्थ वेस्ट से लड़ सकते हैं। बाद में यह जानकारी सामने आई थी शिवसेना किसी मराठी अभिनेता को उतार सकती है, तो ऐसे में शारद पोंक्षे का नाम भी सामने आया था। अब निरुपम के कांग्रेस छोड़ने के ऐलान के बाद शिवसेना उन पर दांव खेल सकती है। निरुपम ने 12 बजे रखी है प्रेस काफ्रेंस संजय निरुपम ने अपने आवास पर दोपहर 12 बजे प्रेस कांफ्रेंस रखी है। कांग्रेस की तरफ स्टार प्रचारकों की सूची से हटाए जाने के बाद यह घटनाक्रम तेजी से बदला है। पार्टी ने उनके खिलाफ यह कार्रवाई लगातार कार्रवाई इसके बाद ही निरुपम ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर लिखा था कि कांग्रेस मेरे पर एनर्जी वेस्ट न करे मै कल फैसला लूंगा। संभव है कि प्रेस कांफ्रेंस में संजय निरुपम आगे की रणनीति का ऐलान कर सकते हैं। अगर वह शिवसेना में नहीं जाते हैं तो दूसरे विकल्प के तौर मुमकिन है कि वह अजित पवार की पार्टी या फिर निर्दलीय लड़ने का फैसला करें। संजय निरुपम कह चुके हैं कि वो खिचड़ी चोर उम्मीदवार के लिए प्रचार नहीं करेंगे। ऐसे में यह तय माना जा रहा है कि वह अमोल कीर्तिकर के खिलाफ चुनाव मैदान में उतर सकते हैं।