Telangana: असदुद्दीन ओवैसी का दावा, दलितों के लिए केसीआर की योजनाओं की नकल कर रही कांग्रेस

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस दलितों के लिए उस योजना की नकल कर रही है जो पहले ही तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव (केसीआर) द्वारा शुरू की जा चुकी है। कांग्रेस द्वारा तेलंगाना में एससी/एसटी परिवारों को 12 लाख रुपये की सहायता देने के चुनावी वादे पर ओवैसी ने कहा कि केसीआर पहले से ही 10 लाख रुपये दे रहे हैं और कांग्रेस सिर्फ 2 लाख रुपये बढ़ाने की बात कर रही है। ओवैसी ने कहा, “तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव (केसीआर) पहले से ही 10 लाख रुपये दे रहे हैं और वे (कांग्रेस) सिर्फ 2 लाख रुपये बढ़ाने की बात कर रहे हैं। केसीआर वही हैं जो दलितों के लिए योजना लाए थे, वे (कांग्रेस) बस नकल कर रहे हैं। ऐसा कहा जाता है कि नकल करने के लिए भी आपको बुद्धिमान होने की जरूरत है।” इसे भी पढ़ें: Prajatantra: राजनीति का नया अखाड़ा बन रहा Telangana, BJP-Congress के निशाने पर KCRतीसरे मोर्चे के संभावित गठन के बारे में, हैदराबाद के सांसद ने कहा, “मैं तेलंगाना के सीएम को इसका नेतृत्व करने के लिए कह रहा हूं। हर राज्य में कई राजनीतिक दल, नेता हैं जो तैयार हैं और अगर सीएम केसीआर नेतृत्व करते हैं, तो फिर बहुत सारा काम किया जा सकता है”। तेलंगाना में इस साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक वार-पलटवार का दौर भी जारी है। इसके साथ ही तेलंगाना में जबरदस्त तरीके से राजनीतिक दलों की ओर से अपनी सक्रियता दिखानी शुरू कर दी गई है। वर्तमान में देखें तो तेलंगाना दक्षिण भारत का एक महत्वपूर्ण राज्य है। 2024 चुनाव से पहले यहां का विधानसभा चुनाव एक दिशा देने वाला हो सकता है।  इसे भी पढ़ें: Muzaffarnagar के स्कूल में छात्र की पिटाई पर गरमाई सियासत, Owaisi ने साधा CM Yogi पर निशानाकांग्रेस-भाजपा का दावापिछले 2 दिनों की बात करें तो एक ओर जहां कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने तेलंगाना का दौरा किया था तो वहीं अमित शाह ने भी रविवार को हुंकार भरी थी। खड़गे ने कहा कि केसीआर और वे (भाजपा) दोस्त बन गए हैं। ये अंदरूनी दोस्ती है, इस बारे में वो खुलकर नहीं बोल सकते। खड़गे ने आगे कहा कि हम 26 पार्टियां केंद्र में पीएम मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार को हटाने के लिए तैयार हैं…लेकिन केसीआर ने कभी किसी बैठक में भाग नहीं लिया और कभी नहीं कहा कि बीजेपी को (केंद्र में) हटाने के लिए हम एक साथ आएंगे। इसके जवाब में शाह ने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में बीआरएस के साथ गठबंधन नहीं करेगी। शाह ने कहा कि ‘भ्रष्ट और दमनकारी’ मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के नेतृत्व वाली बीआरएस सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है, जिसे असदुद्दीन ओवैसी का समर्थन प्राप्त है।