कम ऑन इंडिया, आज पूरी ताकत लगा दो… दूसरा टेस्ट जीतने से भारत 9 विकेट और इंग्लैंड 332 रन दूर

विशाखापट्टनम: भारत में कोई टीम मेहमान टीम चौथी पारी में 276 से बड़ा टारगेट कभी चेज नहीं कर पाई है। वेस्टइंडीज ने 1987 में ऐसा किया था। भारत 2008 में इंग्लैंड के खिलाफ 387 रन के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा कर चुका है। 2002 में इंग्लैंड ने भी एजबेस्टन में 378 रन चेज किए थे हालांकि 1977 के बाद से उसने चौथी पारी में कभी 399+ रन नहीं बनाए हैं। इन सब आंकड़ों को बताने का हमारा एक ही मकसद है कि भारत-इंग्लैंड के बीच जारी दूसरा टेस्ट बेहद रोमांचक मोड़ पर पहुंच चुका है। आज चौथे दिन भारत जीत से नौ विकेट दूर है तो इंग्लैंड 332 और बनाने हैं। इंग्लैंड के फास्ट बॉलर जेम्स एंडरसन ने तो तीसरे दिन के खेल के बाद दहाड़ते हुए कहा कि हम ये मैच 60-70 ओवर में ही जीत जाएंगे। पहली पारी में छह विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह से दूसरी पारी में भी अकेले कातिलाना गेंदबाजी की उम्मीद नहीं करनी चाहिए। पेस जोड़ीदार मुकेश कुमार, अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल को भी अपने हिस्से की जिम्मेदारी निभानी होगी।स्पिन का जादू या बाजबॉललक्ष्य का पीछा करते हुए ओपनर जैक क्राउली (29*) और बेन डकेट (28) ने पहले विकेट के लिए 11 ओवर के भीतर 50 रन जोड़कर इंग्लैंड को अच्छी शुरुआत दिलाई। रविचंद्रन अश्विन ने डकेट को विकेटकीपर श्रीकर भरत के हाथों कैच कराके इस साझेदारी को तोड़ा। दिन का खेल खत्म होने पर रेहान अहमद नौ रन बनाकर क्राउली का साथ निभा रहे थे। इंग्लैंड को जीत के लिए अब भी 332 रन की दरकार है। पिच बल्लेबाजी के लिए मुश्किल नहीं है, लेकिन कुछ गेंद नीची रह रही हैं। इंग्लैंड को हालांकि सीरीज में 2-0 की बढ़त बनाने के लिए रिकॉर्ड लक्ष्य मिला है। वेस्टइंडीज ने दो साल पहले बांग्लादेश में 395 रन बनाकर जीत दर्ज की थी जो एशिया में सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत है। लक्ष्य का पीछा करते हुए चौथी पारी में इंग्लैंड की पिछली 10 पारियांलक्ष्यरनप्रति ओवरपरिणामविपक्षीग्राउंडसाल279/53.53जीतन्यूजीलैंडलॉर्ड्स2022299/55.98जीतन्यूजीलैंडनॉटिंघम2022296/35.44जीतन्यूजीलैंडलीड्स2022378/34.93जीतभारतबर्मिंघम2022130/15.77जीतसा. अफ्रीकाओवल2022170/26.03जीतपाकिस्तानकराची20222563.44हारन्यूजीलैंडवेलिंगटन202312/018जीतआयरलैंडलॉर्ड्स20233274.01हारऑस्ट्रेलियालॉर्ड्स2023254/75.08जीतऑस्ट्रेलियालीड्स2023फिर लोअर ऑर्डर ने किया निराशदरअसल, इंग्लैंड को तीसरे दिन 399 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन दोपहर के सेशन में ऐसा लग रहा था कि उन्हें इससे बड़ा लक्ष्य मिलेगा। आखिरी सेशन में मेजबान टीम 14.3 ओवर्स में केवल 28 रन ही जोड़ सकी। भारतीय बल्लेबाजों ने एक बार फिर इंग्लैंड को वापसी का मौका दिया। हैदराबाद में सीरीज के पहले टेस्ट की तरह भारत के पास एक बार फिर अपनी बल्लेबाजी से इंग्लैंड को मैच से बाहर करने का मौका था, लेकिन शुभमन गिल (104 रन) के शतक के बावजूद भारत दूसरी पारी में 255 रन पर सिमट गया। भारत ने एक समय चार विकेट पर 211 रन बना लिए थे। इसके बाद पारी लड़खड़ा गई। भारत ने अपने अंतिम छह विकेट 44 रन पर गंवाए।