Ayodhya में बोले CM Yogi, खत्म होने जा रहा 500 वर्षों का इंतजार, राम लला आ रहे हैं

अयोध्या शहर दिवाली की पूर्व संध्या पर आज (11 नवंबर) एक भव्य ‘दीपोत्सव’ आयोजित करने के लिए तैयार है, जिसमें 51 घाटों पर 24 लाख से अधिक दीये बड़ी संख्या में रोशन किए जाएंगे। उत्सव के तहत दीपोत्सव 2023 के लिए श्री राम जन्मभूमि पथ को भी विभिन्न प्रकार के फूलों से सजाया जा रहा है। दीपोत्सव से पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या का दौरा किया और राजाभिषेक में हिस्सा लिया। उन्होंने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के साथ राम कथा पार्क के पास भगवान राम, सीता और लक्ष्मण का चित्रण करने वाले कलाकारों का स्वागत किया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारे पूर्वजों ने दीप प्रज्वल को रेखांकित किया है। हमारी पीढ़ी बेहद सौभाग्यशाली है कि भगवान राम लला यहां विराजने के लिए आ रहे हैं।  इसे भी पढ़ें: Kartavyapath : ये दीवाली Ayodhya की 24 लाख दीयों के साथ जमगम वाली, 51 घाटों पर दीपोत्सव के साथ मनेगा वर्ल्ड रिकॉर्डयोगी ने कहा कि अयोध्या वासियों को भगवान राम ने खुद कहा है वे उनके प्रिय वासी हैं तो हमारी भी जिम्मेदारी बनती है कि जब भगवान आ रहे हों तो 22 जनवरी को विराजमान करने के लिए उनके स्वागत की भव्य तैयारी करने के लिए खुद को तैयार रखना होगा। उन्होंने कहा कि 500 वर्षों के इंतजार को खत्म करते हुए अयोध्या में प्रभु श्री राम की जन्म भूमि पर भव्य मंदिर बन रहा है, जिसके हम सब साक्षी बन रहे हैं। योगी ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार का कुल मिलाकर के 178 परियोजनाओं पर 30 हजार 500 करोड़ रुपए की धनराशि अयोध्या के विकास के लिए खर्च हो रही है।  इसे भी पढ़ें: Ayodhya Deepotsav 2023 | 51 घाटों पर 24 लाख दीयों से विश्व रिकॉर्ड बनाएगी अयोध्या, यूपी सरकार ने शुरू की ऑनलाइन दीया बुकिंगयूपी के सीएम ने साफ तौर पर कहा कि पहले अयोध्या उपेक्षित थी, अब नहीं है। राम लला आ रहे हैं, अयोध्या को दुनिया की सबसे सुंदर नगरी बनाएंगे। उन्होंने कहा कि भगवान राम के मंदिर (राम मंदिर) का निर्माण ‘राम राज्य’ की नींव को मजबूत करता है, जिसे पिछले 9.5 वर्षों में प्रधान मंत्री मोदी ने भारत में स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि सात साल पहले जब हमने अयोध्या का दीपोत्सव शुरू किया था तो असमंजस की स्थिति थी…लेकिन आज यह एक बड़ा कार्यक्रम और देश-दुनिया का अनोखा आयोजन बन गया है।