Chinese Taipei की ताइ जू यिंग ने जीता इंडिया ओपन का खिताब

नयी दिल्ली। चीनी ताइपे की दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी ताइ जू यिंग ने रविवार को यहां एकतरफा फाइनल में चीन की ओलंपिक चैंपियन और दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी चेन यू फेई को सीधे गेम में हराकर इंडिया ओपन सुपर 750 बैडमिंटन टूर्नामेंट का महिला एकल का खिताब जीत लिया। तोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता और चौथी वरीय ताइ जू ने दूसरी वरीय यू फेई को 41 मिनट में 21-16, 21-12से हराकर खिताब अपने नाम किया। टूर्नामेंट में ताइ जू यिंग के दबदबे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने पूरे टूर्नामेंट के दौरान एक भी गेम नहीं गंवाया। यू फेई ने भी फाइनल से पहले कोई गेम नहीं गंवाया था लेकिन चीनी ताइपे की खिलाड़ी के आगे वह बेबस नजर आईं। ताइ जू ने यू फेई के खिलाफ अधिकतर समय दबदबा बनाए रखा। उनके स्मैश और ड्रॉप शॉट का चीन की खिलाड़ी के पास कोई जवाब नहीं था। साथ ही ताइ जू चीन की खिलाड़ी को कोर्ट में पीछे की ओर खिलाने में सफल रही जिससे उन्हें कुछ आसान अंक जुटाने का मौका मिला। यू फेई ने साथ ही काफी सहज गलतियां की। उन्होंने काफी शॉट बाहर और नेट पर मारे। यू फेई ने हालांकि मैच में अच्छी शुरुआत की थी। ताइ जू ने लगातार तीन शॉट नेट पर और तीन शॉट बाहर मारकर यू फेई को लगातार सात अंक के साथ 7-1 की बढ़त बनाने का मौका दिया। ताइ जू ने भी जोरदार वापसी करते हुए लगातार छह अंक के साथ स्कोर 7-7 कर दिया। चीनी ताइपे की खिलाड़ी ने इस बीच कुछ अच्छे स्मैश लगाए और उनके ड्रॉप शॉट भी दर्शनीय रहे। ताइ जू ब्रेक तक 11-9 की बढ़त बनाने में सफल रही। यू फेई को ताइ जू के ड्रॉप शॉट पर काफी परेशानी हो रही थी और उन्होंने कुछ शॉट बाहर और नेट पर भी मारे जिससे चीनी ताइपे की खिलाड़ी ने अपनी बढ़त को 15-10 तक पहुंचाया। यू फेई ने 13-19 के स्कोर पर कोर्ट के बाहर शॉट मारकर ताइ जू को सात गेम प्वाइंट दिए। चीन की खिलाड़ी ने तीन अंक बचाए लेकिन ताइ जू ने नेट पर अंक जुटाकर पहला गेम 19 मिनट में 21-16 से जीत लिया। ताइ जू दूसरे गेम में भी हावी नजर आई और उन्होंने अच्छी शुरुआत करते हुए 5-1 की बढ़त बनाई। यू फेई ने लगातार गलतियां की।  इसे भी पढ़ें: AFC Asian Cup। जापान को हराकर ईराक नॉकआउट चरण मेंउन्होंने कई शॉट बाहर मारकर ताइ जू को आसान अंक जुटाने का मौका दिया जिससे चीनी ताइपे की खिलाड़ी ने अपनी बढ़त को 8-2 किया। ताइ जू ने नेट पर शानदार अंक के साथ ब्रेक तक 11-5 की बढ़त बनाई। यू फेई को शटल को नियंत्रित करने में लगातार परेशानी हो रही थी और उनके शॉट लगातार बाहर गिरते रहे। यू फेई ने लगातार तीन शॉट बाहर मारे जिससे ताइ जू ने 14-6 की बढ़त बनाई। ताइ जू 20-11 ने स्कोर पर नौ चैंपियनशिप प्वाइंट हासिल किए और फिर क्रॉस कोर्ट ड्रॉप शॉट के साथ खिताब जीत लिया। मिश्रित युगल फाइनल में देचापोल पुआवरनउक्रोह और सापसिरी तेइरातानचाई की थाईलैंड की दुनिया की सातवें नंबर की जोड़ी ने जियान झेंग बेंग और वेई या शिन की चीन की दुनिया की पांचवें नंबर की जोड़ी को सीधे गेम में 46 मिनट में 21-16, 21-18 से हराकर खिताब अपने नाम किया।