TMC नेता शाहजहां शेख के आतंकी लिंक जांचें, राज्यपाल के निर्देश पर भड़की टीएमसी कहा- बिना सबूत ऐसे कैसे कहा?

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के गवर्नर सी. वी. आनंद बोस ने एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट (ED) के अधिकारियों पर हमले के मामले में मुख्य आरोपी और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के नेता शाहजहां शेख को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है। उन्होंने आतंकवादियों के साथ उनके कथित संबंधों की जांच करने का निर्देश भी दिया। बोस ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि शायद TMC नेता सीमा पार चले गए हों। शेख के आतंकवादियों से कथित संबंध होने की राज्यपाल की टिप्पणियों पर TMC ने रविवार को तीखी आलोचना की।राजभवन की ओर से शनिवार देर रात जारी बयान में कहा गया कि राज्यपाल ने शिकायत मिलने के बाद पुलिस प्रमुख को दोषी को तुरंत गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है। बयान के अनुसार, बोस ने शेख का पता लगाने और उन पर उचित कार्रवाई करने को कहा है। संभव है वह सीमा पार चले गए हों। आतंकवादियों के साथ उनके संबंध की तुरंत जांच किए जाने की जरूरत है। राज्यपाल की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए TMC प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा, ‘हम नहीं जानते कि उनकी टिप्पणियों का आधार क्या है। संविधान के अनुसार, राज्यपाल राज्य सरकार के साथ विचार-विमर्श कर काम करते हैं। फिर वह बिना किसी ठोस रिपोर्ट या सबूत के ऐसी टिप्पणियां कैसे कर सकते हैं? वह यहां समानांतर सरकार चलाने के लिए नहीं आए हैं।’हमले में रोहिंग्या शरणार्थियों के शामिल होने के आरोपBJP की बंगाल इकाई ने ED अधिकारियों पर भीड़ के हमला करने की घटना में सीमा पार के तत्वों और रोहिंग्या शरणार्थियों के शामिल होने के आरोप लगाए हैं। प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा, ‘हम कहते रहे हैं कि शुक्रवार को ED अधिकारियों पर हमले में सीमा पार के तत्व और रोहिंग्या शामिल थे। राज्यपाल ने जो कहा है हम उसका समर्थन करते हैं। अगर शाहजहां को गिरफ्तार किया जाता है तो इससे भ्रष्टाचार और आतंकवाद में शामिल लोगों के बीच एक बड़ा गठजोड़ सामने आएगा।’अधीर रंजन ने कहा, ED इडियटटीम पर हमले के बाद ED की ओर से TMC नेता शाहजहां शेख के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने पर पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा, ED क्या करेगा? ED खुद इडियट है। पश्चिम बंगाल में सत्ता में काबिज दल उसकी देखभाल करेगा। वह पार्टी में खतरनाक लोगों को बचाने का काम करता है। यह देखभाल करने वाली सरकार है। लुकआउट सर्कुलर का क्या मतलब है? सीमाओं में छेद है। उन्हें बड़े दावे नहीं करना चाहिए। चाहे वह BJP हो, ED या CBI हो। BJP रोहिंग्याओं के बारे में चिल्लाती रहती है, लेकिन इतने समय तक वे कहां थे? गृह मंत्रालय कहां था? अब जब मामला सुर्खियों में है तो उन्होंने ध्रुवीकरण की राजनीति शुरू कर दी है। उन्हें उन लोगों के खिलाफ कुछ करना चाहिए जो उनकी देखभाल कर रहे हैं।ED पर छेड़छाड़ और चोरी का केसपश्चिम बंगाल में ED की टीम पर हमले को लेकर राजनीतिक हंगामे के बीच TMC नेता के घरवालों और केंद्रीय जांच एजेंसी ने शनिवार को एक-दूसरे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। शिकायतें छापेमारी से जुड़ी हैं, जिसके दौरान ED अधिकारियों पर भीड़ ने हमला किया, जिसमें वे घायल हो गए थे। शाहजहां के परिवार के सदस्यों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, जिसमें आरोप लगाया गया कि केंद्रीय एजेंसी ने बिना किसी पूर्व सूचना के उनके घर पर छापा मारा और एंट्री करने के लिए ताले तोड़ दिए। शाहजहां शेख के खिलाफ ‘लुकआउट नोटिसपुलिस ने भी बिना किसी पूर्व नोटिस के शुक्रवार को छापा मारने की घटना का स्वत: संज्ञान लेकर ED के विरुद्ध मामला दर्ज किया। इसमें छेड़छाड़, जबरन घर में घुसने और चोरी के आरोप लगाए गए हैं। ED ने तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख के खिलाफ शनिवार को ‘लुकआउट नोटिस’ जारी किया। पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में TMC नेता शेख के घर पर छापेमारी के दौरान भीड़ के ED के अधिकारियों पर हमला किए जाने के एक दिन बाद केंद्रीय एजेंसी ने यह नोटिस जारी किया।