अर्जेंटीना के विश्व कप जीतने पर भारत में भी जमकर मनाया गया जश्न

कोलकाता से लेकर केरल और गोवा तक भारतीय फुटबॉल के दीवानों ने भी अर्जेंटीना की विश्व कप में जीत पर जमकर जश्न मनाया।
अर्जेंटीना ने रविवार को फाइनल में फ्रांस को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से पराजित करके तीसरी बार विश्व कप जीता जो विश्व खिताब के 36 साल के सूखे को खत्म किया। निर्धारित समय के बाद मुकाबला 2-2 से बराबर था जबकि 30 मिनट के अतिरिक्त समय के बाद भी स्कोर 3-3 से बराबर था जिसके बाद नतीजे के लिए शूट आउट का सहारा लिया गया।
अर्जेंटीना की जीत पर कोलकाता, कोच्चि, तिरुवनंतपुरम, पणजी, इंफाल के अलावा भारत के विभिन्न शहरों में लोग सड़कों पर उतर आए और उन्होंने जमकर आतिशबाजी की। कोलकाता में कई स्थानों पर लोगों को अर्जेंटीना की टीम की पोशाक पहने हुए देखा गया और उन्होंने आतिशबाजी भी की।
अर्जेंटीना की जीत का जश्न मना रहे अज्ञात लोगों द्वारा चलाई गई गोली लगने से मणिपुर में 50 वर्षीय एक महिला की मौत हो गई।
पुलिस ने बताया कि यह घटना मणिपुर के पूर्वी इंफाल जिले के सिंगजमेई वांग्मा भीगापति इलाके में रविवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे हुई।
मृतका के परिवार के सदस्यों ने कहा कि फ्रांस पर अर्जेंटीना की जीत के बाद जैसे ही जश्न शुरू हुआ, पटाखों और गोलियों की आवाज गूंजने लगी।
एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मृतका के आवास की पहली मंजिल पर गोलियों के दो निशान पाए गए।
उन्होंने कहा, “जहां एक गोली उसकी पीठ में लगी, वहीं दूसरी गोली लोहे की चादर को पार कर गई।”
कुछ समर्थकों पर भावनाओं का ज्वार हावी था। कुछ की आंखों में आंसू थे तो कई एक दूसरे को गले लगा रहे थे। लोगों ने इस अवसर पर मिठाइयां भी खूब बांटी।
कोलकाता में अर्जेंटीना के अनगिनत समर्थकों में से एक सुजान दत्ता ने कहा,‘‘ मैं चाहता था कि इस शानदार जीत का गवाह बनने के लिए काश डिएगो माराडोना जीवित रहते।’’
केरल की सड़कों पर तो लग रहा था मानो यह केरल नहीं अर्जेंटीना हो। चाहे वह बच्चे हो या वृद्ध या फिर महिलाएं, सभी अर्जेंटीना के रंग में रंगे थे और आतिशबाजी कर रहे थे। वह अर्जेंटीना के स्टार लियोनेल मेस्सी का नाम लेकर नारे लगा रहे थे।
तिरुअनंतपुरम से लेकर कोच्चि तक अर्जेंटीना के समर्थकों ने अर्जेंटीना की जीत का जमकर जश्न मनाया।
केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन, विपक्ष के नेता वी डी सतीसन, विधानसभा अध्यक्ष एमबी राजेश, राज्य के विभिन्न मंत्रियों, विधायकों, ममूटी और मोहनलाल जैसे फिल्म सितारों ने भी अर्जेंटीना को जीत पर बधाई दी।
विजयन ने अपनी फेसबुक पोस्ट पर लिखा,‘‘ अर्जेंटीना को विश्व कप जीतने पर बधाई। लियोनेल मेस्सी की अगुवाई में अर्जेंटीना ने जीत दर्ज की। यह मेस्सी के करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि है।’’
मलयालम फिल्म जगह के दो बड़े अभिनेताओं ममूटी और मोहनलाल खिताबी मुकाबले को देखने के लिए कतर के लुसैल स्टेडियम में मौजूद थे।
ममूटी ने फेसबुक पर लिखा, ‘‘क्या शानदार रात। क्या शानदार मैच। रौंगटे खड़े हो गए। अब तक के सबसे शानदार मुकाबलों में से एक को देखकर रोमांचित हूं। दुनिया को फतह करने के लिए अर्जेन्टीना और मेस्सी को बधाई। फ्रांस और काइलियान एमबापे भी काफी अच्छा खेले।’’
स्टेडियम की अपनी तस्वीर पोस्ट करने वाले मोहनलाल ने कहा कि यह शानदार फाइनल रहा जिसमें दो बेहतरीन प्रतिद्वंद्वियों ने अपना सब कुछ झोंक दिया और करोड़ों फुटबॉल प्रशंसकों के लिए यादगार मुकाबला खेला।
गोवा में भी कई स्थानों पर फुटबॉल प्रेमियों को जश्न मनाते हुए देखा गया। गोवा में कई स्थानों पर छोटे प्रोजेक्टर लगाए गए थे जिनमें हजारों फुटबॉल प्रेमियों ने विश्वकप फाइनल देखा।
गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत सहित कई राजनीतिज्ञों ने अर्जेंटीना और मेस्सी को जीत पर बधाई दी।
सावंत ने ट्वीट किया,‘‘ बधाई अर्जेंटीना। गोवा के फुटबाल प्रशंसक फीफा विश्व कप के रोमांचक फाइनल के गवाह बने।’’
हालांकि कुछ जगहों पर जश्न के दौरान हिंसा की घटनाएं हुईं जिसमें पुलिसकर्मियों सहित कई लोग घायल हुए।
कन्नूर जिले में हाथापाई की कई घटनाओं में एक पुलिस अधिकारी सहित कुछ लोग घायल हो गए।
कोच्चि के कलूर जंक्शन पर जश्न के दौरान एक सिविल पुलिस अधिकारी पर कथित रूप से हमला करने के आरोप में पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।
तिरुवनंतपुरम जिले के पोझियूर इलाके में एक पुलिस अधिकारी घायल हो गया जब विश्व कप फाइनल के एक बड़े स्क्रीन प्रसारण के दौरान नशे की हालत में एक व्यक्ति ने उस पर हमला कर दिया।