2025 तक भारत में 20 लाख लोग छोड़ देंगे नौकरी! रिपोर्ट में बताया-क्यों?

भारत के आईटी सेक्टर में पिछले दशक में 15.5 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिली है. ग्रोथ का सीधा असर नई लोगों को मिले रोजगार पर भी दिखा है. यही वजह है कि IT Sector ने अकेले 2022 के फाइनेंशियल ईयर में एडिशनल 5.5 लाख नौकरियां पैदा की हैं. एचआर फर्म TeamLease Digital द्वारा लॉन्च किए गए Talent Exodus Report में इसकी जानकारी सामने आई है. Indian IT Sector 227 बिलियन डॉलर की इंडस्ट्री है. इस तरह यहां काम करने वाले लोगों की संख्या 50 लाख से ज्यादा है. आईटी सेक्टर भारत में सबसे ज्यादा रोजगार पैदा करने वाला सेक्टर है.
रिसर्चर्स द्वारा लगाए गए अनुमानों के मुताबिक, आईटी इंडस्ट्री ने 2021 के पूरे साले में 23 से 25 फीसदी के साथ डबल डिजिट में बढ़ोतरी देखी है. इस साल यहां पर 25.2 फीसदी की ग्रोथ होने की उम्मीद है. इस साल आईटी सेक्टर में 25.2 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिलेगी. ऐसे में इस बात की भविष्यवाणी की गई है कि आने वाले समय में भी ग्रोथ जारी रहने वाली है.
इन तीन चीजों के लिए नौकरी छोड़ रहे लोग
सर्वे में ये भी कहा गया है कि जॉब मार्केट में सबसे बड़ी गलतफहमियों में से एक ये है कि परफॉर्मेंस सुधार और नौकरी में संतुष्टि को बढ़ावा देने के लिए ज्यादा सैलरी ही एकमात्र तरीका है. हालांकि, आपको ऐसा देखने को मिल जाएगा कि कर्मचारी खुशी-खुशी बढ़ी हुई सैलरी को स्वीकार कर लेता है. लेकिन इंप्लॉयर्स के लिए ये जानना जरूरी है कि पैसा ही एकमात्र ऐसी चीज नहीं है, जो कंपनियों के कर्मचारी अपनी नौकरी में सबसे ज्यादा चाहते हैं.
ये वजहें भी बनीं नौकरी छोड़ने का कारण
इन दिनों कर्मचारी फ्लेक्सिबिलिटी, करियर ग्रोथ और अपनी वैल्यू को देखते हुए भी मोटी सैलरी वाली कंपनियों को छोड़ रहे हैं. सर्वे में ये बात निकलकर सामने आई है कि 33 फीसदी कर्मचारी ऐसे थे, जिनका मानना था कि उनकी कंपनी छोड़ने की वजह ये थी कि वह वहां पर अपनी वैल्यू नहीं समझ पा रहे थे. ऐसे में कंपनियों को अपने कर्मचारी की क्वालिटी को समझने की जरूरत है.
कंपनियों से बड़ी मात्रा में बेहतरीन टैलेंट के जाने की एक वजह ये है कि कर्मचारियों को लगता है कि उन्हें बेहतर लाभ या सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं. 50 फीसदी कर्मचारियों ने नौकरी छोड़ने के पीछे की वजह इस कारण को बताया है. वहीं, 25 फीसदी कर्मचारियों ने कहा कि करियर में ग्रोथ एक वजह है, जिसके चलते वह नौकरी छोड़ रहे हैं.
20 लाख से ज्यादा लोग छोड़ेंगे नौकरी!
सर्वे में ये बात निकलकर आई है कि 50 फीसदी कर्मचारियों का मानना है कि इंप्लॉयर्स को करियर डेवलपमेंट के लिए उन्हें मौका मुहैया कराना चाहिए. 27 फीसदी ने कहा कि इंप्लॉयर्स को अपने कर्मचारियों को बरकरार रखने के लिए कंपनी के कल्चर पर काम करना चाहिए. यहां गौर करने वाली बात ये है कि अगर कर्मचारी इस तरह से सोचते रहे तो 20 से 22 लाख लोग 2025 तक अपनी नौकरियां छोड़ देंगे.