ब्रेंडन मैकुलम ने पकड़ी भारत की सबसे बड़ी कमजोरी, विशाखापत्तनम में करेंगे ‘गोरिल्ला युद्ध’!

विशाखापत्तनम: इंग्लैंड ने पिछले हफ्ते हैदराबाद में पांच मैचों की सीरीज के शुरुआती टेस्ट में भारत को 28 रनों से हरा दिया। इस हार के बाद अब भारतीय थिंक-टैंक अपनी रणनीति पर फिर से काम करने को मजबूर हुई है। इसकी पूरी संभावना है कि विशाखापत्तनम में होने वाले दूसरे टेस्ट में रैंक टर्नर पिच मिले। इस बारे में हालांकि इंग्लैंड के कोच पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी परिस्थिति में उनकी टीम भारत से निपटने को तैयार है। देखा जाए तो स्पिन पिच पर अंग्रेजों को फंसाने का दांव भारत को ही उल्टा पड़ा था। उसके खिलाड़ी स्पिन के आगे खुद ही हथियार डालते नजर आए। अब उनकी इस कमजोरी का इंग्लैंड फायदा उठाने के लिए तैयार है।विशाखापत्तनम में कैसी होगी पिच, स्पिनर या पेस किसे मिलेगा फायादा?पहले टेस्ट में भारत की अप्रत्याशित हार के बाद से विशाखापत्तनम में आगामी मैच के लिए तैयार की जाने वाली पिच की प्रकृति के बारे में अटकलें तेज हो गई हैं। मेजबान टीम तेजी से वापसी करना चाहती है। इस बात पर जोर दिया जा रहा है कि हैदराबाद की तुलना में स्पिनरों के लिए और भी अधिक मददगार होगी।भारत ने तीन खिलाड़ियों को शामिल किया है, जिसमें चोटिल रविंद्र जडेजा और केएल राहुल के कवर के रूप में सरफराज खान, सौरभ कुमार (बाएं हाथ के ऑर्थोडॉक्स) और वाशिंगटन सुंदर (दाएं हाथ के ऑफ स्पिनर) मोर्चे पर लग सकते हैं। इस बीच इंग्लैंड के कोच ब्रेंडन मैकुलम ने ऑल-स्पिन आक्रमण तैनात करने का संकेत दिया है। शोएब बशीर को लेकर मैकुलम ने कही ये बातेंमैकुलम ने न्यूजीलैंड के एसईएनजेड रेडियो से कहा- वह (शोएब बशीर) आ गया है। अगर विकेट उसी तरह स्पिन करती रही जैसा हमने पहले टेस्ट में देखा था, तो जैसे-जैसे सीरीज आगे बढ़ेगी हम सभी स्पिनरों को खेलने या हमारे पास जो मिला है उसका संतुलन बनाने से डरेंगे नहीं। हम परिस्थितियों को देखेंगे और निर्णय लेंगे। आपको हर कॉल सही नहीं मिलेगी, खासकर यहां – कुछ विकेटों को समझना मुश्किल है। लेकिन हम निर्णय लेंगे और उस पर अमल करने की कोशिश करेंगे। फिर हम देखेंगे कि हम कहां पहुंचते हैं। बशीर वीजा मिलने की समस्या की वजह से देरी से भारत पहुंचे।फॉक्स क्रिकेट के हवाले से फोक्स ने कहा- मुझे लगता है कि जिस तरह से कुछ बल्लेबाजों ने अपने स्वीप शॉट्स के साथ इसे खेला है, वह निश्चित रूप से अत्यधिक स्पिन का मुकाबला कर सकते हैं। जाहिर तौर पर पोपी ने ऐसा करने में थोड़ा मास्टरक्लास लगाया है, इसलिए मुझे लगता है कि बहुत से लड़कों के पास एक गेम प्लान है जो उन पिचों पर अच्छा प्रदर्शन करेगा।