‘भ्रूण हत्या के लिए ब्राह्मण-ठाकुर जिम्मेदार’, लॉ कॉलेज में किताब पर विवाद, लेखिका फरहत खान गिरफ्तार

इंदौर के शासकीय लॉ कॉलेज में विवादित किताब लिखने वाली लेखिका को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है.लेखिका डॉ.फरहत खान को पुलिस ने पुणे के एक अस्पताल से गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार किडनी में इन्फेक्शन के चलते उन्हें परिजनों ने अस्पताल में भर्ती किया था, फिलहाल उनका अस्पताल में ही इलाज चल रहा है. पुलिस ने लेखिका को नोटिस सौंपा है. शिक्षा विभाग के द्वारा भी ला कॉलेज में मौजूद लाइब्रेरी की जांच पड़ताल की जा रही है लेकिन इसी दौरान एक और विवादित किताब सामने आई है जिसमें विभिन्न तरह की बातों का जिक्र किया हुआ है.
बता दे लेखिका डॉ फरहत खान की एक और विवादित किताब सामने आई जिसमें हिंदू महिलाओं सहित सनातन धर्म के बारे में आपत्तिजनक बातों का जिक्र किया हुआ है.वही अलग-अलग टिप्पणियों के दौरान लेखिका ने कई आपत्तिजनक टिप्पणी भी की है जिसमें ठाकुर, ब्राह्मण और गुर्जर समाज को लेकर भी कई बातों का जिक्र किया हुआ है. बता दे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद लगातार इस पूरे मामले में जांच की मांग कर रहा है.
सेंट्रल लॉ पब्लिकेशन ने किताब को किया है प्रकाशित
लेखिका डॉक्टर फरहत खान जो की किताब की लेखिका है उनके द्वारा एक और किताब लिखी गई है उस किताब का नाम है महिला व अपराध विधि और इसे इलाहाबाद के सेंट्रल लॉ पब्लिकेशन ने प्रकाशित किया है. इस किताब में हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है और लिखा गया है कि भारत में हिंदू और मुसलमानों के लगभग 1000 वर्ष पुराने संपर्क के फल स्वरुप दोनों ने एक दूसरे को प्रभावित किया है.
ABVP ने लेखिका के खिलाफ खोला मोर्चा
लेखिका ने अपनी किताब में लिखा है कि इस्लाम छुआछूत जाति प्रजाति का विरोधी है, लेकिन भारतीय कारण के फल स्वरुप भारत के मुसलमानों में भी जाति प्रथा का प्रवेश हो गया है. यह किताब सामने आने के बाद एक बार फिर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मोर्चा खोला है वही किताब में यह भी लिखा है कि भ्रूण हत्या जैसे मामलों को लेकर भी किताब में टिप्पणियां की गई है.
भ्रूण हत्या के लिए ब्राह्मण- ठाकुर को ठहराया जिम्मेदार
वही कन्या भ्रूण हत्या पर लेखिका ने लिखा कि ब्राह्मण ठाकुर और गुर्जर इस काम को ज्यादा करते हैं और आज वह अपने बच्चों की शादी के लिए कन्या को ढूंढ रहे हैं. और आज अब कन्या भ्रूण हत्या के परिणाम को इन्हीं समाज के लोगों के द्वारा सबसे ज्यादा भुगता जा रहा है. जिस तरह से डॉक्टर फरहत खान के द्वारा एक के बाद एक विवादित किताबें सामने आ रही है उसके बाद निश्चित तौर पर उनकी मुश्किलें बढ़ सकती है.
पुलिस ने लेखिका के खिलाफ दर्ज किया केस
पिछले दिनों उनकी एक किताब के सामने आने के बाद पुलिस ने उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है जिसके बाद वह लगातार फरार चल रही है और दूसरी किताब के भी सामने आने के बाद निश्चित तौर पर पुलिस उनके खिलाफ एक और प्रकरण दर्ज कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई कर सकती है.