BJP चाहती है कि हम उसके दल में शामिल हो जाएं, पर हम ऐसा नहीं करेंगे: Arvind Kejriwal

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उन्हें और आम आदमी पार्टी (आप) के अन्य नेताओं को अपने दल में शामिल होने के लिए मजबूर करने की कोशिश कर रही थी, लेकिन वे ऐसा नहीं करेंगे, क्योंकि उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया है। भाजपा ने उनके दावों को दिल्ली की जनता को ‘भटकाने और बरगलाने’ का एक प्रयास करार देते हुए खारिज कर दिया है। केजरीवाल की टिप्पणी ऐसे समय आई है जब उन्हें उनके उन आरोपों से जुड़ी दिल्ली पुलिस की जांच में शामिल होने के लिए कहा गया है। केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि भाजपा ने आप विधायकों को ‘खरीदने’ का प्रयास किया था। केजरीवाल आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन मामले में भी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समन का सामना कर रहे हैं। किरारी में दो विद्यालयों की नींव रखने के अवसर पर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के प्रमुख ने दावा किया कि भाजपा चाहती है कि वे उसकी पार्टी में शामिल हो जाएं, लेकिन वह ऐसा नहीं करने पर अड़े हैं। केजरीवाल ने कहा, ‘‘वे हमारे खिलाफ कोई भी साजिश रच सकते हैं, लेकिन कुछ नहीं होने वाला है। मैं उनके खिलाफ मजबूती से खड़ा हूं और झुकने वाला नहीं हूं। वे कहते हैं, ‘आओ और भाजपा में शामिल हो जाओ और हम तुम्हें अकेला छोड़ देंगे। लेकिन मैं कभी भाजपा में शामिल नहीं होऊंगा। हमें भाजपा में क्यों शामिल होना चाहिए? यदि आप भाजपा में शामिल होते हैं, तो सभी पाप माफ हो जाते हैं।’’ केजरीवाल ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा कि आप नेताओं के खिलाफ सभी मामले झूठे हैं। केजरीवाल ने हिंदी में किये गये पोस्ट में कहा, ‘‘अगर हमने कुछ गलत किया होता, तो हम उन दूसरे लोगों की तरह भाजपा में शामिल हो जाते, जिन्होंने अपने मामले बंद करवा लिये। जब ​​हमने कुछ भी गलत नहीं किया है, तो हमें भाजपा में क्यों शामिल होना चाहिए? हमारे खिलाफ दायर सभी मामले झूठे हैं। आज नहीं तो कल, सभी मामले खत्म हो जाएंगे।’’  इसे भी पढ़ें: Uttarakhand के उंचाई वाले क्षेत्रों में हिमपात, निचले इलाकों में बारिश ने बढ़ाई ठंडकेजरीवाल की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा की दिल्ली इकाई के प्रमुख वीरेंद्र सचदेवा ने कहा, ‘‘अरविंद केजरीवाल जांच एजेंसियों की जांच से डरते हैं, इसलिए वह झूठ बोल रहे हैं। वह दिल्ली के लोगों को भटकाना और बरगलाना चाहते हैं और इसीलिए वह उन चीजों के सपने देख रहे हैं जो कभी नहीं हो सकतीं।’’ केजरीवाल और कैबिनेट मंत्री आतिशी को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने उनके द्वारा लगाए गए उन आरोपों के संबंध में नोटिस तामील कराये हैं जिनमें कहा गया है कि आप विधायकों को भाजपा ‘खरीदने’ का प्रयास कर रही थी। आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन मामले में पूछताछ के लिए ईडी की ओर से जारी पांच समन को केजरीवाल अब तक नजरअंदाज कर चुके हैं।