बिहार की राजनीतिक उठापटक पर भाजपा बोली, हमारी कोई भूमिका नहीं, जदयू-राजद के बीच अप्राकृतिक गठबंधन

बिहार में राजनीतिक उठापटक के बीच भाजपा ने कांग्रेस और राजद पर निशाना साधा। दावा किया जा रहा है कि नीतीश कुमार एक बार फिर से पाला बदल सकते हैं। माना जा रहा है कि वह एक बार फिर से भाजपा के साथ सरकार बना सकते हैं। इन सबके बीच केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि यह गठबंधन अप्राकृतिक है… जो चीज अप्राकृतिक है वह लंबे समय तक टिक नहीं सकती। उन्होंने कहा कि इस अप्राकृतिक गठबंधन की स्वत: ही स्वाभाविक मृत्यु हो जाएगी। बिहार में जो कुछ भी हो रहा है, उसमें हमारी कोई भूमिका नहीं है, जो मतभेद हो रहे हैं, वह उन्हीं की वजह से है।  इसे भी पढ़ें: बिहार में सियासी हलचल के लालू परिवार की बढ़ी मुश्किलें, राबड़ी देवी और मीसा भारती को कोर्ट का समनभाजपा नेता ने साफ तौर पर कहा कि कुछ सबसे भ्रष्ट पार्टियां इंडिया गठबंधन का हिस्सा हैं। नीतीश कुमार अब उनके साथ नहीं रहना चाहते। भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि हम बैठक में शामिल होने जा रहे हैं और पार्टी द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करेंगे…पार्टी बिहार के हित के अनुसार निर्णय लेगी। भाजपा विधायक अग्निमित्रा पॉल ने कहा, “राहुल गांधी ममता बनर्जी की इतनी तारीफ करते हैं उसके बाद भी मल्लिकार्जुन खरगे को सुरक्षित मार्ग को लेकर पत्र लिखना पड़ रहा है। वे किस चीज़ को लेकर डर रहे हैं?… दिल्ली जाकर ये लोग हाथ मिलाकर दिखाते हैं कि ये दोस्त हैं लेकिन असल में सब अपना-अपना एजेंडा लेकर चल रहे हैं…” इसे भी पढ़ें: ‘कांग्रेस ने बार-बार किया नीतीश कुमार का अपमान’, KC Tyagi बोले- पतन के कगार पर इंडिया ब्लॉक दूसरी ओर राजद और जदयू में बयानबाजी शुरू हो गई है। जेडीयू एमएलसी नीरज कुमार ने कहा कि राजद नेतृत्व बेचैन है… वे अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं, वे इसपर रोक लगाएं वर्ना राजनीति में इसका अंजाम बेहतर नहीं होगा। सुधाकर सिंह ने कहा कि कोई भी निर्णय राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद को लेना है, नीतीश कुमार और सरकार को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई… सरकार चल रही है। लोकसभा को लेकर चर्चा हुई। राजद नेता मनोज झा ने कहा, “बैठक बहुत सकारात्मक हुई, हमारी अलग-अलग पहलुओं पर चर्चा हुई… बैठक में समकालीन राजनीति में चल रहे मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया गया।”