हिंदू राष्ट्र की मांग कर रहे BJP के मंत्री और नेताओं को देना चाहिए इस्तीफा- दिग्विजय सिंह

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि भाजपा गौतम अडानी और बेरोजगारी सहित अन्य मुद्दों पर बात करने की बजाय, हिंदू राष्ट्र की बात कर रही है. बेरोजगारों के साथ छलावा हो रहा है. उन्हें रोजगार नहीं मिल रहा है और भाजपा देश को हिंदू राष्ट्र बनाने को लेकर सब मुद्दों से अपना ध्यान भटका रही है.

उन्होंने भाजपा नेताओं पर और बागेश्वर धाम के संत धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर टिपड़ी करते हुए कहा कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और यहां हिंदू राष्ट्र की परिकल्पना को सार्थक नहीं किया जा सकता है. ऐसे में यदि भाजपा नेता और मंत्री यह सब इस्तीफा दें, क्योंकि उन्होंने भी भारत के संविधान की शपथ ली है. यदि भारत के संविधान में विश्वास नहीं है तो इन्हें इस्तीफा देना चाहिए. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एक दिवसीय प्रवास पर शुक्रवार रात 8 बजे शिवपुरी जिले में आए. दिगिवज्य सिंह यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक लेने आए थे.उनका कार्यकर्ताओं ने जमकर स्वागत किया.
बागेश्वर धाम के संत धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को भी घेरा
दिग्विजय सिंह ने बागेश्वर धाम के संत धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के हिंदू राष्ट्र बनाने की मांग को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कथा में जाने वाले लोगों को भी पूछना चाहिए कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और यहां भारतीय संविधान लागू है ऐसे में भारत को हिंदू राष्ट्र कैसे घोषित किया जा सकता है? यदि भाजपा नेता और मंत्री भी हिंदू राष्ट्र बनाने की मांग करते हैं तो उमें इस्तीफा देना चाहिए,क्योंकि उन्होंने भारत के संविधान की शपथ ली है.

ये भी पढ़ें- बाबा बवाल और दिव्य दरबार! धीरेंद्र शास्त्री के खिलाफ शिकायत दर्ज, मिली 30 लाख की चुनौती

राहुल गांधी द्वारा विदेश में वक्तव्य देने को लेकर संसद में हो रहे बवाल को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा नेता 5 दिन से संसद नहीं चलने दे रहे हैं. वह गौतम अडानी और हिडनवर्ग की रिपोर्ट को दबाना चाहते हैं ,इसलिए वह राहुल गांधी को टारगेट कर निशाना बना रहे हैं .ऐसे में भाजपा राहुल गांधी का नाम लेकर मुद्दों को हवा देने में लगी हुई है जबकि उनके द्वारा देश का कोई अपमान नहीं किया गया है, राहुल गांधी तो पहले भी गौतम अडानी और नरेंद्र मोदी को लेकर भारत में भी वक्तव्य दे चुके हैं. उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा भी केंद्र की तत्कालीन केंद्र सरकार और कांग्रेश पर भी विदेशों में जाकर वक्तव्य दिया है, तब भाजपाई कुछ क्यों नहीं बोले.
भाजपा बेरोजगारों के साथ छलावा कर रही
दिग्विजय सिंह ने शराबबंदी और बेरोजगारों को लेकर कहा कि उमा भारती मध्य प्रदेश में शराबबंदी की पहल कर रही हैं,जबकि पहले प्रदेश में 12 हजार शराब की दुकानें हुआ करती थी जो अब बढ़कर 30 हज़ार से अधिक हो गई हैं.इतना ही नहीं बेरोजगारों को नौकरी के नाम पर ठगा जा रहा है, उनसे 430 सौ करोड़ रुपए फीस ले ली गई है, जबकि परीक्षाओं का उचित इंतजाम नहीं किया गया. कई बार परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं, ऐसे में भाजपा बेरोजगारों के साथ छलावा कर रही है.

शिवपुरी विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को लेकर जब उनसे पूछा गया तो उनका कहना था कि जनता में भाजपा को लेकर नाराजगी है . यशोधरा राजे सिंधिया से भी लोग नाराज हैं ,ऐसे में कांग्रेस के पास अच्छे और मजबूत उम्मीदवार हैं,आने वाले विधानसभा चुनावों में उतारेंगे.

ये भी पढ़ें- MP: सेंट्रल जेल भैरवगढ़ में 15 करोड़ के GPF घोटाले की जांच पूरी, जेल अधीक्षक को हटाया