Bihar Bridge Collapse: तेजस्वी बोले- नए सिरे से कराया जाएगा पुल का निर्माण, दोषियों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

भागलपुर में 2014 से बन रहा 3.16 किलोमीटर का पुल 14 महीने में दो बार टूट चुका है। रविवार को पुल गिरने के बाद इसके निर्माण पर सवाल उठने लगे हैं। भाजपा बिहार सरकार पर जबरदस्त तरीके से हमलावर है। इन सब के बीत बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का भी बयान सामने आया है। तेजस्वी यादव ने साफ तौर पर कहा है कि नए सिरे से पुल का निर्माण कराया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले में जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी।  इसे भी पढ़ें: बिहार के मंत्री तेज प्रताप यादव का आरोप, ‘हम पुल बनाते हैं, बीजेपी उन्हें तोड़ देती है’तेजस्वी यादव ने क्या कहानिर्माणाधीन पुल गिरने पर बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि इंजीनियर्स को हटाया गया है, कॉन्ट्रैक्टर पर भी कार्रवाई होगी। हमें पहले ही इसपर शक था। उन्होंने कहा कि नए सिरे से पुल का निर्माण कराया जाएगा। हमारी कोशिश है कि यह निश्चित समय सीमा के अंदर कार्य पूरा हो। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि मामले की जांच हो रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी…जो पुल की राशि होगी वह कॉन्ट्रैक्टर पर आएगी। सीबीआई जांच की मांग पर उन्होंने कहा कि IIT रुड़की पहले ही जांच कर रही है। अब CBI वाले इंजीनियर तो है नहीं।  इसे भी पढ़ें: क्यों टली विपक्षी दलों की बैठक, नीतीश कुमार का आया बयान, बिहार में इन बातों की चर्चा तेजक्या है मामलाबिहार सरकार ने दो दिन पहले हुई एक पुल ढहने की घटना को लेकर इसकी निर्माण कंपनी को ‘कारण बताओ’ नोटिस जारी किया है और संबंधित कार्यपालक अभियंता को निलंबित कर दिया गया है।  भागलपुर और खगड़िया जिलों को जोड़ने के लिए गंगा नदी पर 1,700 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाए जा रहे इस पुल का एक हिस्सा रविवार को ध्वस्त हो गया था। करीब एक साल पहले भी पुल का एक हिस्सा ध्वस्त हुआ था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पुल की आधारशिला फरवरी 2014 में रखी थी और इसका निर्माण 2019 तक पूरा किया जाना था।