रोहित शर्मा से सीखकर भारत को हरा दिया, बेन स्टोक्स ने खोला इंग्लैंड की वापसी का राज

हैदराबाद: ओली पोप (196 रन) के शतक के बाद डेब्यू कर रहे बाएं हाथ के स्पिनर टॉम हार्टले जादुई स्पेल से इंग्लैंड ने पहले टेस्ट के चौथे दिन भारत पर 28 रन की यादगार जीत हासिल की। इस जीते के साथ ही उसे पांच मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त भी मिल गई है। इंग्लैंड ने भारत को जीत के लिए 231 रन का लक्ष्य दिया। लेकिन 7 विकेट लेने वाले हार्टले की फिरकी के जाल में फंसकर मेजबान टीम चौथे दिन दूसरी पारी में 69.2 ओवर में 202 रन पर सिमट गयी। जीत के बाद इंग्लैंड के कप्तान काफी संतुष्ट नजर आए। क्या बोले बेन स्टोक्स?बेन स्टोक्स ने मैच के बाद कहा कि उन्होंने पहली पारी के बाद देखा कि कैसे रोहित शर्मा फील्डिंग लगा रहे हैं। इससे उन्हें दूसरी पारी में मदद मिली। स्टोक्स ने कहा, ‘मेरे कप्तानी संभालने के बाद से हमने कई शानदार पल देखे हैं। ये जीत शायद हमारी सबसे बड़ी उपलब्धि है। पहली बार यहां कप्तान के रूप में आना और जीतना खास है। मैं गेम को बारीकी से देखता हूं। मैंने देखा कि भारतीय स्पिनरों ने कैसे गेंदबाजी की, रोहित ने कैसे फील्ड लगाया।’पोप और हार्टली को सराहाबेन स्टोक्स ने जीत के हीरो ओली पोप और टॉम हार्टली की जमकर सराहाना की। उन्होंंने कहा- हर किसी के लिए बहुत खुशी की बात है। टॉम हार्टले के 9 विकेट और शोल्डर सर्जरी के बाद पोप का वापसी। टॉम पहली बार टीम में आए और उसे ज्यादा मौका दिया गया। हम अपने चुने हुए खिलाड़ियों पर पूरा भरोसा करते हैं। स्टोक्स ने अंत में कहा- जिस स्थिति में हम थे, उसने जिस तरह के शॉट खेले, ऐसी पिच पर 190 रन बनाना, वो इस उपमहाद्वीप में किसी भी अंग्रेज बल्लेबाज की सबसे बेहतरीन पारी है। मैं असफलता से नहीं डरता, मैं टीम के हर सदस्य का हौसला बढ़ाने की कोशिश करता हूं।