कॅरियर बर्बाद नहीं होने देगा बीसीसीआइ, जय शाह ने की ऋषभ की मां से बात

नई दिल्ली: भयानक सड़क हादसे के बाद स्टार भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत भले ही खतरे से बाहर हो, लेकिन इन मुश्किल हालाताों में बीसीसीआई अपने प्लेयर के साथ पूरी ताकत से खड़ा है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड की ओर से ऋषभ पंत की हेल्थ पर अपडेट दिया गया है। साथ ही बोर्ड ने हरसंभव मदद का वादा भी किया है। ऋषभ का ईलाज बीसीसीआई की मेडिकल टीम की देखरेख में हो रहा है। सचिव जय शाह ने बयान जारी कर क्या कुछ कहा, चलिए आपको आगे बताते हैं।

ऋषभ पंत विकेटकीपर बल्लेबाज हैं। मैच में लगातार उन्हें उठक-बैठक लगानी होती है। ऐसे में घुटनों का इंजर्ड होना करियर पर फुल स्टॉप भी लगा सकता है।
भारत के लिए 33 टेस्ट में पांच शतक और 11 अर्धशतक की मदद से 2,271 रन बनाने वाले ऋषभ पंत ने 30 वनडे और 66 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबले भी खेले हैं। श्रीलंका के खिलाफ 3 जनवरी से शुरू होने वाली टी-20 और वनडे सीरीज के लिए घोषित टीम से उन्हें बाहर कर दिया गया था।

अनफिट होने की वजह से ऋषभ को बेंगलुरु स्थित एनसीए तलब किया गया था, जहां वह अपनी फिटनेस दोबारा हासिल करते। इस भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ने हाल ही में बांग्लादेश के खिलाफ दो टेस्ट मैच की सीरीज में भारत की जीत में बड़ी भूमिका निभाई थी।

हादसे की बात करें तो ऋषभ पंत अपनी मर्सिडिज कार से होमटाउन रुड़की जा रहे थे, लेकिन दिल्ली-देहरादून हाइवे पर कार डिवाइडर से टकरा गई। दिल्ली नरसन बॉर्डर पर डिवाइडर से जब गाड़ी टकराई तब उसे पंत ही ड्राइव कर रहे थे। खुद गाड़ी चला रहे थे। उन्हें तुरंत सक्षम अस्पताल ले जाया गया, लेकिन आगे के इलाज के लिए मैक्स अस्पताल ले जाया जाएगा।’