स्कूल के बाहर नाबालिगों को करते थे इशारे, बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने पकड़कर कर दी पिटाई

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पिछले दिनों इंदौर के एक कार्यक्रम में ‘लव जेहाद को मध्यप्रदेश की धरती पर पनपने नहीं दूंगा’ इन शब्दों का प्रयोग किया था. सीएम शिवराज सिंह चौहान को इस बात को कहे 2 दिन भी नहीं बीते कि बजरंग दल अब एक्शन मोड में आ गया है. बता दें बजरंग दल लव जेहाद को लेकर पहले ही इंदौर में रेस्टोरेंट्स कैफे एवं गार्डन में सर्चिंग अभियान चला रहा है और मुस्लिम युवकों को हिंदू युवतियों के साथ पकड़ कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई भी कर रहा है.
इसी कड़ी में बजरंग दल कार्यकर्ताओं को यह सूचना मिली कि हिंदू बहुल क्षेत्र में स्कूल के बाहर एक मुस्लिम युवक नाबालिक युवतियों को देखकर इशारे कर रहा है. इसी सूचना के आधार पर बजरंग दल कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे और युवक को पकड़ लिया. युवक इरफान को जब बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने पकड़ा और उससे पूछताछ की तो वह पहले तो क्षेत्र में ऐसे ही घूमने की बात करता रहा लेकिन जब बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने उसकी पिटाई की और सख्ती से पूछताछ की और उसके मोबाइल की जांच पड़ताल की तो उसमें तकरीबन 8 हिंदू नाबालिक युवतियों के बारे में जानकारी निकली.
इरफान ने हिंदू युवती से की शादी
तो वही जांच पड़ताल के दौरान ही मुस्लिम युवक इरफान के मोबाइल में एक नाबालिक हिंदू युवती के साथ तो उसके घर पर जाकर शादी करने का वीडियो और फोटो भी मिले. इसके बाद बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने इरफान की जमकर पिटाई की और उसके बाद चंदननगर पुलिस के हवाले कर दिया वही बजरंग दल के विभाग संयोजक तनु शर्मा का कहना है कि आने वाले दिनों में कई और क्षेत्रों में भी इसी तरह से सर्चिंग अभियान चलाकर मुस्लिम युवकों को पहले पकड़ा जाएगा और फिर उनकी जमकर पिटाई कर पुलिस के हवाले किया जाएगा.
बदनामी के डर से परिजनों ने नहीं कराया मामला दर्ज
वहीं इस पूरे मामले में जिस नाबालिग को बहला फुसलाकर मुस्लिम युवक ने शादी की उसके परिजनों को भी पूरे मामले की जानकारी दे दी गई है साथ ही इरफान के मोबाइल से तकरीबन 8 से अधिक हिंदू नाबालिक युवतियों के मोबाइल नंबर की जानकारी मिली है. उन नाबालिक हिंदू युवतियों के परिजनों को जानकारी दी जा रही है. वहीं इरफान को बाद में पुलिस के हवाले कर दिया गया है. चूंकी इस पूरे मामले में नाबालिग युवती और उनके परिजन अपनी बदनामी के डर से शिकायत लेकर थाने नहीं पहुंचे, जिसके कारण पुलिस ने नाम मात्र की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है.