Arvind Kejriwal को मिला तेलंगाना के सीएम का साथ, KCR बोले- पीएम मोदी को अध्यादेश वापस लेना चाहिए

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश के खिलाफ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार विपक्षी दलों के नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। आज उन्होंने हैदराबाद में अपने तेलंगाना के समकक्ष के. चंद्रशेखर राव से मुलाकात की। इस दौरान तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने दिल्ली में सेवाओं के नियंत्रण पर केंद्र के अध्यादेश को वापस लेने की मांग की। हैदराबाद में चंद्रशेखर राव ने कहा ने कहा कि हम केजरीवाल के साथ खड़े रहेंगे। उन्होंने कहा कि अध्यादेश को नाकाम करने के लिए लोकसभा और राज्यसभा में अपनी पूरी ताकत लगा देंगे। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि पीएम मोदी को अध्यादेश वापस लेना चाहिए, हम इसकी मांग करते हैं।  इसे भी पढ़ें: CM अरविंद केजरीवाल के बंगले के रेनोवेशन पर खर्च हुए 52 करोड़, विजलेंस ने LG को सौंपी रिपोर्टतेलंगाना के सीएम ने कहा कि यह समय आपातकाल के दिनों से भी बदतर है, आप (केंद्र) लोगों द्वारा चुनी गई सरकार को काम करने की अनुमति नहीं दे रहे हैं। संवाददाता सम्मेलन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लोगों को न्याय दिलाने के लिए, वह (केसीआर), उनकी पार्टी और उनकी सरकार हमारे साथ हैं। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ दिल्ली के बारे में नहीं है, बल्कि देश के लोकतंत्र को बचाने के बारे में है … उनका (केसीआर) समर्थन ने हमें बहुत ताकत प्रदान की है। इससे पहले केजरीवाल बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, शरद पवार और उद्धव ठाकरे जैसे नेताओं से मुलाकात कर चुके हैं।  इसे भी पढ़ें: दिल्ली का बॉस कौन? फिर SC की चौखट तक पहुंची कानूनी जंग, केंद्र सरकार ने दायर की पुनर्विचार याचिकागौरतलब है कि अध्यादेश जारी किये जाने से महज एक सप्ताह पहले ही उच्चतम न्यायालय ने राष्ट्रीय राजधानी में पुलिस, कानून-व्यवस्था और भूमि को छोड़कर अन्य सभी सेवाओं का नियंत्रण दिल्ली सरकार को सौंप दिया था। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली सेवाओं पर नियंत्रण के मुद्दे पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) और तृणमूल कांग्रेस समेत विभिन्न राजनीतिक दलों से समर्थन मांगा है।