युवा कांग्रेस अध्यक्ष की गिरफ्तारी : कांग्रेस ने माकपा के दावे को ‘सस्ती राजनीति’ बताया

केरल में मुख्य विपक्षी कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को सत्तारूढ़ मार्क्सवादी कांग्रेस पार्टी (माकपा) के उस आरोप को खारिज कर दिया कि युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राहुल ममकूटथिल ने अदालत में जमानत के लिए फर्जी चिकित्सा प्रमाण पत्र जमा किया था। पार्टी ने इसे वामपंथी पार्टी की ‘सस्ती राजनीति’ करार दिया।
ममकूटथिल को हाल ही में एक मार्च के दौरान कथित तौर पर हिंसक प्रदर्शन का नेतृत्व करने के आरोप में पुलिस ने मंगलवार सुबह पथनमथिट्टा स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया था। एक अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी और बाद में उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।
कन्नूर जिले के तालीपरम्बा में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माकपा के राज्य सचिव एम वी गोविंदन ने आरोप लगाया कि युवा कांग्रेस अध्यक्ष ने जमानत के लिए फर्जी चिकित्सा प्रमाणपत्र जमा किया था।
गोविंदन के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष वी.डी.सतीसन ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘मैं माकपा और गोविंदन को चुनौती देता हूं कि वह अपने आरोपों को साबित करें।’’
ममकूटथिल की गिरफ्तारी को लेकर राज्य की वाम लोकतांत्रितक मोर्चा (एलडीएफ) सरकार और मुख्यमंत्री पिनरई विजयन की आलोचना जारी रखते हुए सतीसन ने आरोप लगाया कि वह पुलिस बल का प्रयोग कर ‘‘राज्य प्रायोजित आतंकवाद’’ को लागू कर रहे हैं।
सतीसन ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए दावा किया कि पूरा केरल राज्य युवा कांग्रेस अध्यक्ष की गिरफ्तारी के विरोध में एकजुट हो गया है।
नेता प्रतिपक्ष ने बताया कि पुलिस ने उनके खिलाफ भी एक मामला भी दर्ज किया है, जिसमें उन्हें हाल ही में युवा कांग्रेस द्वारा आयोजित एक विरोध मार्च की शुरुआत करने का पहला आरोपी बताया गया है। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘ सरकार सत्ता के दुरुपयोग करने में खुशी महसूस करती है।’’
सतीसन ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री विजयन आधुनिक केरल में विपक्ष की राजनीतिक गतिविधियों में बाधित करने और दबाने के लिए ‘स्टालिनवादी नीति’ लागू करने की कोशिश कर रहेहैं।