सूडान के सैन्य शासक ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव को भेजी एक चिट्ठी, पढ़कर स्तब्ध रह गए एंटोनियो गुतारेस

खार्तून : सूडान के सैन्य शासक अब्देल फतेह बुरहान ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस को पत्र लिखकर संयुक्त राष्ट्र में तैनात सूडानी राजदूत वोल्कर पर्थेस को हटाने का अनुरोध किया है। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के प्रवक्ता ने कहा कि गुतारेस ने इस पत्र पर ‘हैरानी’ जताई है। पर्थेस सूडान में एक मुख्य मध्यस्थ रहे हैं। उन्होंने देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था कायम करने के प्रयासों और फिर पिछले महीने सैन्य प्रतिद्वंद्वियों के बीच तनाव बढ़ने के बाद शुरू हुई लड़ाई के समय मध्यस्थ अहम भूमिका निभाई। सूडान में सेना प्रमुख बुरहान के सैनिकों और जनरल मोहम्म्द हमदान डागालो के नेतृत्व वाले शक्तिशाली अर्धसैनिक समूह ‘रैपिड सपोर्ट फोर्सेज’ के बीच लड़ाई छिड़ी हुई है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव को शुक्रवार को बुरहान का पत्र मिला। संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र महासचिव उन्हें मिले पत्र से स्तब्ध हैं। उन्हें वोल्कर पर्थेस की ओर से किए गए कार्यों पर गर्व है और वह उनमें पूर्ण विश्वास करते हैं।’पर्थेस पर लगाया ‘पक्षपात’ का आरोपदुजारिक ने पत्र में लिखीं बातें उजागर नहीं कीं। सूडान के एक सैन्य अधिकारी ने कहा कि बुरहान के पत्र में गुतारेस से पर्थेस को हटाने का अनुरोध किया गया है, जिन्हें 2021 में पद पर नियुक्त किया गया था। अधिकारी के अनुसार, बुरहान ने पर्थेस पर ‘पक्षपातपूर्ण’ होने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके दृष्टिकोण ने जनरलों और लोकतंत्र समर्थक आंदोलनकारियों के बीच युद्ध से पहले हुई वार्ता में संघर्ष को भड़काने का काम किया थ। उस वार्ता का उद्देश्य देश में लोकतंत्र बहाल करना था, जो अक्टूबर 2021 में हुए सैन्य तख्तापलट के कारण पटरी से उतर गया था।