हर सिटी में Anti Romeo Squad, 2,700 रुपये प्रति क्विंटल गेंहू खरीदने का वादा, Rajasthan में BJP ने जारी किया संकल्प पत्र

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी नेताओं के साथ गुरुवार को राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी का ‘संकल्प पत्र’ (घोषणा पत्र) जारी किया। राज्य में 25 नवंबर को मतदान होने जा रहा है। इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, राज्य पार्टी प्रमुख सीपी जोशी, राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पार्टी के अन्य नेता मौजूद थे। विशेष रूप से, मेघवाल ने दावा किया कि भाजपा का संकल्प पत्र पार्टी के आउटरीच कार्यक्रमों जैसे “आकांक्षा पेटी”, ई-मेल और सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के माध्यम से एक करोड़ से अधिक लोगों के सुझावों पर आधारित है। मेघवाल पार्टी की घोषणापत्र समिति के संयोजक हैं। इसे भी पढ़ें: ‘लापता मॉडल पर काम करती है कांग्रेस’, JP Nadda बोले- Madhya Pradesh को BJP ने बीमारू से बेमिसाल बनायानड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राजस्थान को पिछले 9 वर्षों में 23 मेडिकल कॉलेज दिए हैं, जिसमें से 11 ऑपरेशनल हो गए हैं। उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र में भारत सरकार ने राज्स्थान के लिए विकास कार्य किया है, लेकिन हम डबल इंजन की सरकार चाहते हैं। क्योंकि यहां पर जो तुष्टिकरण वाली सरकार है, पेपरलीक वाली सरकार है, घोटाले और भ्रष्टाचार वाली सरकार है, उसे हटाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि गेंहू की उपज को प्रति क्विंटल 2,700 रुपये में खरीदा जाएगा और ये एमएसपी के ऊपर बोनस दिया जाएगा। उसी तरीके से एक मुआवज़ा नीति बनेगी, जिसमें जिन किसानों की भूमि कुर्क की गई है, उनको हम कैसे कंपनसेट कर सकते हैं और मुख्यधारा में ला सकते हैं, इस पर काम किया जाएगा। इसे भी पढ़ें: ‘हवा, पानी और जमीन…हर जगह घोटाला करती है कांग्रेस’, Madhya Pradesh ने JP Nadda का तगड़ा प्रहारभाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हर ​एक जिले में महिला थाना खोला जाएगा और हर थाने में महिला डेस्क होगी। हर सिटी में Anti Romeo Squad बनाया जाएगा। महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए ‘लाडो प्रोत्साहन योजना’ शुरू की जाएगी। जिसमें भाजपा सरकार नवजात बच्चियों को 2 लाख का सेविंग बांड देगी। उन्होंने कहा कि मैं कहना चाहूंगा कि अन्य पार्टियों के लिए घोषणा पत्र महज एक औपचारिकता है। लेकिन बीजेपी के लिए यह विकास का रोडमैप है। यह ‘संकल्प पत्र’ सिर्फ पन्ने पर लिखे शब्द नहीं हैं, बल्कि हम इन वाक्यों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारा इतिहास इस बात का प्रमाण है कि हमने जो कहा वह किया।