सिसोदिया को लगा एक और झटका, आज पूछताछ के बाद ED ने किया गिरफ्तार

नई दिल्ली: दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को एक और झटका लगा है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम दिल्ली की शराब नीति मामले में गुरुवार को मनीष सिसोदिया को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले मंगलवार को भी ईडी की टीम ने करीब 6 घंटे तक जेल में ही सिसोदिया से सवाल जवाब किया था। शराब नीति में घोटाले में ईडी मनी लॉन्ड्रिंग के एंगल से जांच कर रही है। मनीष सिसोदिया को सीबीआई ने शराब नीति में कथित घोटाले के मामले में 26 फरवरी को गिरफ्तार किया था। सोमवार को राउज एवेन्यू कोर्ट ने सिसोदिया को 20 मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। सिसोदिया तिहाड़ जेल में बंद हैं। उधर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ईडी की कार्रवाई पर नाराजगी जताते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने कहा है कि ‘मनीष को पहले CBI ने गिरफ्तार किया। CBI को कोई सबूत नहीं मिला, रेड में कोई पैसा नहीं मिला। कल बेल पर सुनवाई है। कल मनीष छूट जाते। तो आज ED ने गिरफ्तार कर लिया। इनका एक ही मकसद है- मनीष को हर हालत में अंदर रखना। रोज नए फर्जी मामले बनाकर। जनता देख रही है। जनता जवाब देगी’।’जवाब देने में टालमटोल कर रहे थे सिसोदिया’प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली आबकारी नीति में कथित अनियमितता से संबंधित धन शोधन के आरोपों को लेकर गुरुवार को आम आदमी पार्टी (आप) के नेता और दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने कहा कि 51 वर्षीय नेता को धन शोधन निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत तिहाड़ जेल में दूसरे दौर की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया। जांच एजेंसी ने आरोप लगाया कि सिसोदिया अपने जवाब में ‘टालमटोल’ कर रहे थे और ‘जांच में सहयोग नहीं’ कर रहे थे।क्या है मामला दिल्ली में वर्ष 2021-22 के लिए बनाई गई और अब रद्द की जा चुकी आबकारी नीति को तैयार करने और इसे लागू करने में कथित भ्रष्टाचार के सिलसिले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा 26 फरवरी को गिरफ्तार किये जाने के बाद सिसोदिया फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं।ईडी ने सिसोदिया से पहले दौर की पूछताछ सात मार्च को थी।