आंध्र प्रदेश चुनाव: निर्वाचन आयोग पारदर्शी और निष्पक्ष चुनाव के लिए प्रतिबद्ध, सीईसी ने कहा

मुख्य निर्वाचन आयुक्त (सीईसी) राजीव कुमार ने बुधवार को कहा कि निर्वाचन आयोग पारदर्शी तरीके से और प्रलोभन मुक्त माहौल में चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सभी अपराधियों से सख्ती से निपटने के लिए अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं।
कुमार ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आयोग ने चुनाव मशीनरी और संपूर्ण नौकरशाही को निष्पक्ष, पारदर्शी और सभी हितधारकों के लिए सुलभ होने पर जोर दिया है और उन्हें स्पष्ट निर्देश दिए हैं।
उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग की टीम ने कई राजनीतिक दलों से मुलाकात की है, जिन्होंने नकदी बांटे जाने पर नियंत्रण से लेकर वोटों को प्रभावित करने और प्रलोभन-मुक्त चुनावों के लिए सख्त कार्रवाई करने जैसे कई अनुरोध किए हैं।
कुमार ने कहा, ‘‘ऐसा नहीं है कि आप सिर्फ शराब के छोटे संचालकों, शराब ले जाने वालों पर ही कार्रवाई करें। उन सरगनाओं को पकड़ें जिनके जरिये अपराध को अंजाम दिया जाता है। इसी तरह, बैंकों, वॉलेट, यूपीआई, किसी भी माध्यम से नकदी के हस्तांतरण की स्थिति में उस पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी।’’
उन्होंने कहा कि हवाई पट्टियों और हेलीपैड सहित सभी हवाई अड्डों पर खुफिया आधार पर सभी प्रकार की हेलीकॉप्टर और हवाई सेवाओं की जांच की जाएगी।
कुमार के मुताबिक, आंध्र प्रदेश में 4.07 करोड़ मतदाता हैं, जिनमें से 2.07 करोड़ महिला मतदाता हैं। उन्होंने कहा कि लगभग 5.80 लाख मतदाता 80 वर्ष से अधिक आयु के हैं और 1,174 मतदाता 100 वर्ष से अधिक आयु के हैं। आंध्र प्रदेश में विधानसभा की 175 सीटें हैं जबकि 25 लोकसभा सीटें हैं। आंध्र प्रदेश में आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनावों के मद्देनजर, कुमार के नेतृत्व में निर्वाचन आयोग ने आज समाप्त हुई अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान विभिन्न हितधारकों के साथ चर्चा की।