‘गाजा के लादेन’ के पीछे पड़ा अमेरिका, इजरायल-हमास जंग के बीच बड़ी तैयारी

वॉशिंगटन: इजरायल और हमास का युद्ध पिछले सात महीनों से चल रहा है। इस युद्ध में शांति समझौता नहीं हो पा रहा है। इजरायल का कहना है कि जब तक गाजा में पूरी तरह से हमास का खात्मा नहीं होता, तब तक युद्ध नहीं रुकेगा। लेकिन इस युद्ध के कारण गाजा में फिलिस्तीनी पिस रहे हैं। अमेरिका चाहता है कि गाजा का यह मानवीय संकट जल्द से जल्द खत्म हो। इसे लेकर अब अमेरिका इजरायल की बड़ी मदद करने वाला है। अमेरिका गाजा में हमास चीफ को खोजने में मदद करेगा, ताकि युद्ध को समाप्त किया जा सके।मिडिल ईस्ट आई के मुताबिक अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि वाइट हाउस इजरायल को ‘संपूर्ण जीत’ में मदद करेगा। वर्तमान और पूर्व अमेरिकी अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, ‘अमेरिका पूरे क्षेत्र में अपने खोज प्रयासों का विस्तार कर रहा है। माना जा रहा है कि याह्या सिनवार गाजा में सुरंगों के नीचे छिपा है।’ एक अन्य अमेरिकी अधिकारी ने इस बात की संभावना जताई कि सिनवार मिस्र के सिनाई प्रायद्वीप में भाग गया हो, और वहां से लेबनान या सीरिया में चला गया हो।सिनवार के ठिकाने की नहीं जानकारीवर्तमान और पूर्व खुफिया अधिकारियों ने किसी विशिष्ट खुफिया जानकारी का हवाला नहीं दिया। लेकिन कहा कि अमेरिका के पास सिनवार के आखिरी ठिकाने से जुड़ी जानकारी न होना एक बहस का मुद्दा है। अधिकारियों के मुताबिक बाइडेन प्रशासन सिनवार के अंतिम ज्ञात स्थल के बारे में जानकारी रखने में लगभग एक महीने पीछे है। सीआईए के पूर्व अधिकारी ब्रूस रिडेल ने कहा कि सिनवार के अंतिम स्थान के बारे में स्पष्टता की कमी ‘काफी खराब’ थी। उन्होंने कहा कि जानकारी से एक महीने पीछे होने का मतलब है कि आपके पास रियल टाइम जानकारी नहीं। सुरंग से बाहर आया था सिनवारहमास के एक अधिकारी ने पिछले महीने कहा कि सिनवार ने जमीन के ऊपर युद्ध क्षेत्रों का दौरा किया था और विदेश में समूह को लेकर विचार विमर्श किया था। हमास ने बताया था कि जैसा इजरायल कहता है वैसा सिनवार हमेशा सुरंग में नहीं रहता, बल्कि क्षेत्र में अपने कर्तव्यों का पालन भी करता है। अधिकारियों ने कहा कि सिनवार पर नजर रखना अमेरिका के खुफिया समुदाय के लिए जरूरी बन गया है। बाइडेन प्रशासन का मानना है कि इससे वह इजरायल पर युद्ध खत्म करने का दबाव बना सकता है।