अजित पवार ने की विपक्ष के नेता पद से इस्तीफे की पेशकश, कहा- संगठन में काम करना चाहता हूं

राकांपा नेता अजित पवार ने बुधवार को महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता पद से इस्तीफे की पेशकश की और कहा कि वह पार्टी संगठन में काम करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मैंने पार्टी में कई सालों तक काम किया है। मैंने कई पदों पर काम किया है। नेता प्रतिपक्ष का पद वह नहीं है जिसकी मैंने मांग की थी। पत्र पर हस्ताक्षर करने वाले पार्टी विधायकों के आग्रह पर मैंने यह पद चुना…लेकिन अब मैं विपक्ष के नेता का पद छोड़ना चाहता हूं। वे मुंबई के शनमुखानंद हॉल में राकांपा के स्थापना दिवस कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।इसे भी पढ़ें: Maharashtra: सुप्रिया सुले ने अजित पवार को बताया महाराष्ट्र की राजनीति का अमिताभ बच्चन, केंद्र पर भी साधा निशानाअजित पवार ने कहा कि मेरा अनुरोध है कि मैं अब पार्टी संगठन में किसी पद पर काम करना चाहता हूं। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि मैं आपको सर्वश्रेष्ठ परिणाम दूंगा और मैं आपको दिखाऊंगा कि मैं क्या कर सकता हूं। आप मुझे जो भी पद देंगे मैं उसे स्वीकार कर लूंगा। लेकिन मैं आपको दिखाता हूं कि मैं संगठन में क्या कर सकता हूं। एक महीने पहले पवार ने पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी। पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं के कड़े विरोध और मांगों के बाद उन्हें अपना प्रस्ताव वापस लेना पड़ा। इसे भी पढ़ें: Chai Par Sameeksha: फडणवीस को क्यों आई औरंगजेब की याद, शरद पवार ने भतीजे अजित को कैसे लगाया किनारेएक महीने बाद, शरद पवार ने राज्यसभा सांसद प्रफुल्ल पटेल और लोकसभा सांसद सुप्रिया सुले को पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्षों के रूप में घोषित किया। अजीत की अप्रत्याशित पेशकश के बाद उन्होंने बताया कि कैसे उन्होंने 2019 के विधानसभा चुनावों में राकांपा के कई विधायकों की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और बिना देरी किए फैसले लिए।