इगोर स्टिमैक की बर्खास्तगी के बाद AIFF को नए हेड कोच की तलाश, मांगे आवदेन

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (AIFF) ने इगोर स्टिमैक की मुख्य कोच पद से बर्खास्तगी के बाद नए कोच की तलाश शुरू कर दी है। बोर्ड ने बुधवार को अपने सोशल मीडिया हैंडल के जरिए आवेदन की जानकारी शेयर की। दरअसल, हाल ही में हुए फीफा वर्ल्ड कप 2024 क्वालिफायर में टीम इंडिया का प्रदर्शन खराब रहा था। इसके बाद एआीएफएप ने स्टिमैक को हेड कोच पद से बर्खास्त कर दिया था। भारतीय टीम ने दूसरे राउंड में कुवैत से ड्रॉ खेला था, जबकि कतर से अहम मुकाबले में हार झेली। ऐसे में टीम इंडिया ने पहली बार फीफा वर्ल्ड कप क्वालीफायर के तीसरे दौर में जगह बनाने का मौका गंवा दिया था। नए युग की हो रही शुरुआतस्टिमैक और पूर्व भारतीय कप्तान सुनील छेत्री के संन्यास के बाद भारतीय फुटबॉल युग की नई शुरुआत होने जा रही है। पूर्व मुख्य कोच स्टिमैक की बर्खास्तगी से टीम में बदलाव की लहर शुरू हो गई है। फीफा रैंकिंग में 121वें स्थान पर काबिज भारतीय टीम को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने के लिए काफी संघर्ष करना है। फिलहाल वर्ल्ड कप का सपना उनकी पहुंच से दूर है। वहीं एआईएफएफ की तरफ से जारी की गई विज्ञप्ति में कहा गया है कि, इस पद का प्राथमिक उद्देश्य फीफा वर्ल्ड कप / एएफसी एशियाई कप/ एसएएफएफ चैंपियनशिप और एएफसी अंडर-23 चैंपियनशिप के लिए योग्ता के सात कई मैचों और प्रतियोगिताओं के लिए सीनियर पुरुष राष्ट्रीय टीम और अंडर-23 पुरुष राष्ट्रीय टीम का चयन, निगरानी और तैयारी करना है और प्रमुख लक्ष्यों में एशियाई खेल 2026 में उल्लेखनीय तैयारी और प्रदर्शन करना है। एआईएफएफ ने साफ किया है कि उन्हें इस पद के लिए ऐसे व्यक्ति की तलाश है जिसके पास 10-15 साल का कोचिंग का अनुभव हो। इसके अलावा ऐसे खिलाड़ी को प्राथमिकता दी जाएगी जिसके पास पहले से ही राष्ट्रीय टीम की कोचिंग का अनुभव है। 

📢 We’re HiringAIFF seeks an experienced Head Coach for the India Senior Men’s/U23 National Team.For more details, visit:https://t.co/eIuZ5IvpDK#IndianFootball⚽️ #BlueTigers #WeAreHiring pic.twitter.com/znBdtQ8wdV— Indian Football Team (@IndianFootball) June 19, 2024

वहीं स्टिमैक ने एआईएफएफ को चेतावनी दी थी कि 10 दिन में उनका बकाया भुगतान नहीं किया गया तो वह फीफा ट्रिब्यूनल में उसके खिलाफ मामला दर्ज करेंगे। उन्होंने कहा कि, मैं समय से पहले इस तरह अपना अनुबंध खत्म किए जाने के कारण दस दिन के भीतर अपना बकाया भुगतान किए जाने के लिए कह रहा हूं। ये रकम वही होगी जो अनुबंध के कार्यकाल में मुझे मिलनी थी। ऐसा नहीं करने पर मैं फीफा की ट्रिब्यूनल में एआईएफएप के खिलाफ मामला दर्ज करूंगा।