ODI और T20 के बाद अब टेस्ट में बल्ले से आग लगाएंगे सूर्यकुमार, इस खिलाड़ी की जगह मिल सकता है मौका

नई दिल्ली: अनुभवी ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा के चटगांव में 14 दिसंबर से शुरू हो रही बांग्लादेश टेस्ट श्रृंखला से पहले पूरी तरह फिट होने की संभावना काफी कम है।यह जानकारी भारतीय क्रिकेट बोर्ड के सूत्र ने दी। भारत के पास पहले ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल और बाएं हाथ के कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव हैं के रूप में तीन विकल्प है, ऐसे में टीम में चौथे विशेषज्ञ स्पिनर की जरूरत शायद ही हो।

टीम प्रबंधन अगर जडेजा की तरह किसी स्पिनर हरफनमौला को चाहेगा तो यह विकल्प भारत ए के गेंदबाज सौरभ कुमार होंगे। ऐसी अटकलें हैं कि नयी चयन समिति या भारतीय टीम प्रबंधन (तब तक नयी समिति का गठन नहीं होने की स्थिति में) सूर्यकुमार यादव के शानदार फॉर्म को खेल के लंबे प्रारूप में परखना चाहेगी।

भारत को बांग्लादेश में दो टेस्ट और तीन एकदिवसीय मैच खेलने हैं और रोहित शर्मा के नेतृत्व में मजबूत टीम पड़ोसी देश का दौरा करने के लिए तैयार है। भारत अगले महीने के पहले सप्ताह में तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला के बाद चटगांव में 14-18 दिसंबर और मीरपुर में 22-26 दिसंबर तक दो टेस्ट खेलेगा।जडेजा ने यूएई में एशिया कप के बाद घुटने की सर्जरी कराई थी और फिर अनिश्चित काल के लिए टीम से बाहर हो गए थे।

बीसीसीआई के एक सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘जडेजा कई मौकों पर अपने चेक-अप और रिहैब के लिए एनसीए गए हैं। अभी तक ऐसी संभावना नहीं दिख रही है कि वह बांग्लादेश श्रृंखला के लिए फिट होंगे। चेतन शर्मा की अगुवाई वाली पूर्व चयन समिति ने हालांकि उन्हें फिटनेस हासिल करने की शर्त के साथ टीम में रखा था।’

सौरभ इस साल की शुरुआत में श्रीलंका के खिलाफ श्रृंखला के दौरान टेस्ट टीम का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने बेंगलुरु में ‘ए’ टेस्ट श्रृंखला में न्यूजीलैंड ए के खिलाफ पांच विकेट लिए थे।