तिहाड़ जेल में गैंगस्टर टिल्लू के बाद अब कौन था टारेगट? मोबाइल, सिम और सुआ बरामद

नवीन निश्चल, नई दिल्ली: दिल्ली की में गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया की तरह शायद किसी और की मर्डर की तैयारी चल रही थी। लेकिन वक्त रहते जेल प्रशासन ने मोबाइल, सिम और सेल्फमेड सुए को बरामद कर मर्डर की प्लानिंग में पानी फेर दिया है। दरअसल तिहाड़ जेल में प्रशासन की ओर से छापेमारी कर कैदियों से मोबाइल, सिम और दूसरे प्रतिबंधित सामान बरामद किए जा रहे हैं। उसी कड़ी में बीती रात तिहाड़ जेल नंबर 8/9 के अंदर कैदियों ने बवाल कर दिया। जब शाम में जेलकर्मियों ने एक मोबाइल बरामद किया और दूसरे की बरामदगी करने के दौरान एक साथ 21 कैदी आपस में मिलकर खुद को घायल करके जेलकर्मियों पर दबाव बनाने की कोशिश करने लगे। जिसमें से 4 कैदियों को दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में रेफर कर दिया गया, बाकी का इलाज जेल हॉस्पिटल में किया गया।सनसनी फैलाने की कोशिशजेल में आपाधापी के दौरान एक कैदी ने अपने पास मौजूद मोबाइल से परिवार को कॉल करके यह जानकारी दी कि उनके साथ जेलकर्मी मारपीट कर रहे हैं। फिर उस कैदी के परिवार वाले ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना देकर की तिहाड़ जेल के अंदर कैदियों की पिटाई की जा रही है। सनसनी फैलाने की कोशिश भी की।क्या है मामला? इस मामले की पुष्टि करते हुए जेल प्रवक्ता ने बताया कि 21 जून शाम 5.20 से 5.50 के बीच एक कीपैड मोबाइल और एक सेल्फमेड बना हुआ सुआ बरामद किया गया था। जिस जगह से यह बरामद किया गया, वहां से चार्जर और सिम भी बरामद किया गया। इसी बीच दूसरे कैदियों की भी गतिविधि संदिग्ध लगी और उसी छानबीन में जेलकर्मियों को पता चला कि दूसरे कैदी के पास भी मोबाइल है। उस कैदी से मोबाइल बरामद करने के लिए कंट्रोल रूम से उसे लेकर कब बैरक तक लाया गया और मोबाइल बरामद करने की कोशिश की गई तो दूसरे कैदियों ने ऐसा करने से मना किया। इसका सब मिलकर विरोध करने लगे। लगभग 21 कैदी इकट्ठा होकर जेलकर्मियों को डराने के लिए खुद को घायल करना शुरू कर दिया।इसके पीछे वह कोशिश कर रहे थे कि जो एक मोबाइल बचा हुआ है, वह बरामद ना हो सके। इसी बीच मौका देखकर एक कैदी ने उसी छुपाए गए मोबाइल से अपने फैमिली मेंबर को कॉल कर दिया और फिर उस फैमिली मेंबर ने पीसीआर कंट्रोल रूम को कॉल करके यह कहा कि जेलकर्मियों के द्वारा जेल के अंदर कैदियों की पिटाई की जा रही है।घायलों को जेल में भर्ती कराया गयाजेल अफसर के अनुसार तुरन्त जेल के अंदर बने कंट्रोल रूम से और जेलकर्मियों को बुलाया गया और वहां पर सिचुएशन को कंट्रोल किया गया। जो 21 कैदियों ने खुद को घायल किया था, उसे जेल के ही अस्पताल में ले जाया गया। जहां से 4 को वहां से हरीनगर के दीनदयाल हॉस्पिटल में रेफर किया गया। उसके बाद सीसीटीवी फुटेज की मदद से रात 10:30 बजे एक मोबाइल को बरामद किया गया। जिससे एक कैदी ने फैमिली मेंबर को कॉल किया था। इस मामले की लिखित शिकायत हरिनगर थाना की पुलिस की गई है। दिल्ली प्रिजनर रूल के मुताबिक कार्रवाई की जा रही है।टिल्लू के मर्डर से दहल गया था तिहाड़2 मई को तिहाड़ जेल की संख्या-9 में कुछ लोगों ने रोहिणी कोर्ट शूटआउट के आरोपी गैंगस्टर सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया पर सुए से ताबड़तोड़ 92 वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया था। इससे पहले अप्रैल माह के दूसरे हफ्ते में जेल संख्या तीन में बंद कैदी प्रिंस तेवतिया की हत्या कर दी गई थी। प्रिंस कुख्यात बदमाश लॉरेंस बिश्नोई गैंग से मिला था।