UP निकाय चुनाव की वोटर्स लिस्ट में नाम जुड़वाएं, नोट कर लें ये तारीखें… चुनाव आयोग ने जारी कर दिया नोटिस

लखनऊः उत्तर प्रदेश में नगर निकाय चुनावों की तारीख को लेकर अभी स्थिति साफ नहीं है लेकिन राज्य निर्वाचन आयोग ने वोटर्स लिस्ट में मतदाताओं के नामों को जोड़ने तथा संशोधन के किए अवसर खोल दिए हैं। इसके तहत 11 से लेकर 17 मार्च तक हफ्ते भर में वोटर्स लिस्ट में नाम डालने के लिए आवेदन किए जा सकते हैं। आयोग की वेबसाइट sec.up.nic.in पर जाकर यह आवेदन किया जा सकता है। आपत्ति लेने, उसके निस्तारण के बाद अंतिम मतदाता सूची 1 अप्रैल को आम जनता के लिए प्रकाशित की जाएगी। इस संबंध में राज्य निर्वाचन आयुक्त ने निर्देश जारी कर दिए हैं।इस कार्यक्रम से तहत ड्राफ्ट निर्वाचक नामावली का प्रकाशन 10 मार्च को किया जाएगा। इसके बाद 11 मार्च से लेकर 17 मार्च तक ड्राफ्ट के रूप में प्रकाशित निर्वाचक नामावली का निरीक्षण किया जाएगा। इस दौरान नए नामों की एंट्री के लिए आवेदन भी लिए जाएंगे। साथ ही नामावली को लेकर आपत्तियां भी स्वीकार की जाएंगी। आपत्तियों और दावों के निस्तारण के लिए 18 मार्च से लेकर 22 मार्च तक का समय रखा गया है।23 मार्च से लेकर 31 मार्च तक दावे और आपत्तियों के निस्तारण के बाद पूरक सूचियों की पांडुलिपियां तैयार की जाएंगी और उन्हें पूरक सूची-1 में समाहित किया जाएगा। जनसामान्य के लिए अंतिम रूप से तैयार वोटर्स लिस्ट का प्रकाशन 1 अप्रैल को किया जाएगा। चुनाव आयुक्त के निर्देश के मुताबित, 11 से 17 मार्च तक अगर किसी मतदाता का नाम किसी गलत वार्ड में दर्ज हो गया है तो उसे दुरुस्त करा सकता है। 1 जनवरी 2023 को जो भी लोग 18 साल के हो रहे हैं, वे वोटर्स लिस्ट में अपना नाम सम्मिलित कराने के लिए दावा कर सकते हैं। बता दें कि बीते साल दिसंबर में नगर निकाय चुनाव के लिए राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी थी। इस साल जनवरी में ये चुनाव कराए जाने थे लेकिन बाद में ओबीसी आरक्षण को लेकर पेच फंस गया और चुनाव पर रोक लग गई। इसके बाद योगी सरकार ने ओबीसी आयोग का गठन किया और जल्द उसे अपनी रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया। कहा जा रहा है कि मार्च तक आयोग अपनी रिपोर्ट सौंप देगा, जिसके बाद चुनाव का रास्ता खुलेगा।