हरियाणा में AAP ने बढ़ाई बीजेपी की मुश्किल, पंचायत चुनाव के नतीजों से यूं ही खुश नहीं केजरीवाल

चंडीगढ़: हरियाणा के हिसार जिल आदमपुर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में करारी हार का सामना कर चुकी को पंचायत चुनाव में थोड़ा सुकून मिला है। हरियाणा की राजनीति में बैकफुट पर चल आम आदमी पार्टी को पंचायत चुनाव में एक प्रकार की संजीवनी मिली है। वहीं उसने बीजेपी की मुश्किलें भी बढ़ा दी है। हरियाणा में अपना पहला जिला परिषद चुनाव लड़ रही आप ने पंजाब विधानसभा चुनाव की सफलता को भुनाने के लिए अपने चुनाव चिह्न झाडू पर उम्मीदवार उतारने का फैसला किया था। जिला परिषद की 115 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली आम आदमी पार्टी को 15 पर जीत मिली है। हरियाणा में साल 2024 में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसलिए आम आदमी पार्टी के लिए यह जीत काफी बड़ी है। वहीं इस जीत से दिल्ली से मुख्यमंत्री और हरियाणा आप के नेता गदगद हैं। हरियाणा में रविवार को 22 जिला परिषद और 143 पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव घोषित हुए।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंचायत चुनाव में जीते आम आम आदमी पार्टी के सभी प्रत्याशियों को बधाई दी है। केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए कहा कि हरियाणा में हुए जिला परिषद चुनाव में जीत हासिल करने वाले आम आदमी पार्टी के सभी प्रत्याशियों के साथ-साथ सभी कार्यकर्ताओं को बहुत-बहुत बधाई। पूरी मेहनत से मन लगाकर जनता के लिए काम करें।

आम आदमी पार्टी ने हरियाणा के सिरसा जिले में बड़ी बढ़त देखी है, जो पंजाब का पड़ोसी है और मालवा क्षेत्र के करीब है। यहां आम आदमी पार्टी की 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव के बाद से मजबूत उपस्थिति है। पार्टी ने अंबाला में भी सीटें जीती हैं। आम आदमी पार्टी इसे भाजपा शासित हरियाणा के ग्रामीण गांव में एक बड़े कदम के रूप में देख रही है। वहीं बीजेपी ने इस चुना के भीतर कई उतार-चढ़ाव देखे हैं।

बता दें कि पिछले महीने हरियाणा की आदमपुर सीट पर हुए उपचुनाव में आम आदमी पार्टी अपनी जमानत भी नहीं बचा पाई थी। आप प्रत्याशी सतिंदर सिंह को सिर्फ 3413 वोट पड़े थे और वो अपनी जमानत जब्त होने से नहीं बचा पाए थे। हार के बाद आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रभारी डॉ. सुशील गुप्ता ने हार स्वीकार करते हुए कहा था कि आम आदमी पार्टी आदमपुर के वोटरों का आदेश नतमस्तक होकर स्वीकार करती है।

हरियाणा में आने वाला समय ‘आप’ का: सुशील गुप्ताआम आदमी पार्टी के सांसद एवं हरियाणा के प्रभारी ने सुशील गुप्ता ने कहा कि आप ने जिला परिषदों की 15 सीटें जीती हैं। उन्होंने दावा किया है कि यह चुनाव परिणाम स्पष्ट करते हैं कि हरियाणा में आने वाला समया आम आदमी पार्टी का है।

बीजेपी को लगा झटकाबीजेपी का इस चुनाव में प्रदर्शन बेहद खराब रहा और उसके कई बड़े नेता चुनाव हार गए। कुरुक्षेत्र से भाजपा सांसद, नायब सिंह सैनी की पत्नी सुमन, अंबाला में जिला परिषद चुनाव हार गईं और चौथे स्थान पर रहीं। पंचकूला में, बीजेपी सभी 10 जिला परिषद सीटों पर हार गई। गुरुग्राम में, बीजेपी ने 10 जिला परिषद सीटों में से चार पर जीत हासिल की और शेष 6 पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की।