‘जेल में हो सकती है सिसोदिया की हत्या’, AAP का दावा, आरोपों पर आया तिहाड़ का जवाब

नई दिल्ली: शराब घोटाला मामले में तिहाड़ जेल में बंद दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की जेल में हत्या कराई जा सकती है। यह दावा आम आदमी पार्टी (AAP) की ओर से किया गया है। आप का दावा है कि उन्हें जेल भेजने के पीछे बड़ी साजिश रची गई है। साजिश के तहत उन्हें तिहाड़ जेल नंबर एक में खूंखार कैदियों के साथ रखा गया है। आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने पूछा कि क्या मनीष सिसोदिया की जेल में हत्या कराने का षड्यंत्र बीजेपी ने रचा है? इसी षड्यंत्र के तहत मनीष सिसोदिया को खूंखार अपराधियों के साथ जेल नंबर एक में रखा गया है। कोर्ट ने आदेश दिया कि मनीष सिसोदिया विपासना सेल में रहेंगे। इसके बावजूद उन्हें खतरनाक अपराधियों के साथ क्यों रखा गया है? प्रधानमंत्री और भाजपा राजनीतिक तौर पर ‘आप’ को नहीं हरा पाई तो हमारे नेताओं की हत्या का षड्यंत्र रचा है ? क्या दिल्ली और एमसीडी की हार का बदला प्रधानमंत्री इस तरह से लेंगे?AAP ने लगाए गंभीर आरोपआम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। उन्होंने मनीष सिसोदिया की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि केंद्र सरकार के षड्यंत्रों के कारण मनीष सिसोदिया आज जेल में हैं। यह पता चल रहा है कि उन्हें किसी षड्यंत्र के तहत तिहाड़ की एक नंबर जेल में रखा गया है। जबकि पहली बार अंडर ट्रायल वाले लोगों को जेल नंबर एक में नहीं रखा जाता है। पूरे देश के सबसे खतरनाक और पेशेवर अपराधियों को जेल नंबर एक में रखा जाता है। उनकी हिंसा की खबरें मीडिया में आती रहती हैं। इनमें से कई खतरनाक अपराधी मानसिक रूप से बीमार हैं, जो कि छोटे से इशारे पर किसी की भी हत्या कर सकते हैं। उनके ऊपर दर्जनों हत्या के मामले चल रहे हैं। इसलिए उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता कि एक मुकदमा और चल जाए। ‘क्या हार का बदला प्रधानमंत्री इस तरह से लेंगे’उन्होंने कहा कि हम बीजेपी के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी हैं, मगर क्या इस तरह की दुश्मनी राजनीति में होती है? भाजपा हमें दिल्ली में नहीं हरा पाई। लोगों ने तीन बार लगातार आम आदमी पार्टी को चुना है। इसके‌ अलावा एमसीडी चुनावों में हमें हरा नहीं पाए। लाख षडयंत्रों के बाद भी मेयर और डिप्टी मेयर हमारे बन गए। क्या इस हार का बदला प्रधानमंत्री इस तरह से लेंगे? इस मामले में प्रधानमंत्री चुप क्यों है? क्या यह षडयंत्र तो नहीं है? आम आदमी पार्टी को राजनीतिक रूप से तो नुकसान नहीं पहुंचा पा रहे हैं। हमारे नेताओं को जेल में भेज दिया, इसलिए लोगों की सहानुभूति ‘आप’ के प्रति बढ़ रही है। ऐसे में यह षडयंत्र हमारे शीर्ष नेताओं की हत्या तक पहुंच गया है। यह बेहद खतरनाक संकेत हैं, हम इसकी घोर निंदा करते हैं। ‘कोर्ट के आदेश की अनदेखी’विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कोर्ट के सीधे आदेश थे कि मनीष सिसोदिया को विपासना वाले सेल में रखा जाए, ताकि वह ध्यान लगा सकें। इसके बावजूद उनको इस तरह के खतरनाक कैदियों के साथ क्यों रखा जा रहा है। इसके साथ यह चिंता है कि क्या केंद्र सरकार राजनीतिक हत्याएं भी करवाएगी? केंद्र सरकार इसपर जवाब दे। हम उनके इस कदम की घोर निंदा करते हैं।बीजेपी पर जमकर भड़के संजय सिंहआप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि होली का त्योहार दुश्मनों को भी गले लगाने का त्योहार है। लेकिन होली के त्योहार पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी की दुश्मनी इस कदर बढ़ गई है कि उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सबसे करीबी मित्र मनीष सिसोदिया को खतरनाक खूंखार अपराधियों के बीच में जेल के अंदर रखा है। हमें आशंका है कि मनीष सिसोदिया की हत्या भी कराई जा सकती है। मनीष सिसोदिया ने दिल्ली में शिक्षा का मॉडल दिया। बीजेपी ने लाखों बच्चों का भविष्य बनाने वाले मनीष सिसोदिया को देश के सबसे खतरनाक और खूंखार कैदियों के सेल में रखा है। पीएम मोदी को मनीष सिसोदिया से इतनी दुश्मनी किस लिए है और वो इतनी नफरत क्यों निकाल रहे हैं? ‘घर से कुछ बरामद नहीं हुआ’ संजय सिंह ने कहा कि मनीष सिसोदिया के घर से कुछ भी बरामद नहीं हुआ है और उन्हें बीजेपी ने तिहाड़ में खूंखार कैदियों के बीच में रखा है। मनीष सिसोदिया की हत्या कराने की साजिश रची जा रही है। वहीं, कर्नाटक में बीजेपी विधायक के बेटे के घर से 8 करोड़ रुपये कैश बरामद हुआ। लेकिन बीजेपी विधायक के बेटे के घर सीबीआई-ईडी नहीं गई है और उसको तुरंत जमानत भी मिल गई। देश की जनता सब देख रही है कि कैसे भाजपा के विधायक के घर 8 करोड़ मिलने पर भी उसे तुरंत जमानत मिल रही है और मनीष सिसोदिया को कोर्ट के आदेश के बावजूद खूंखार अपराधियों के सेल में रखा गया है। मनीष सिसोदिया को तिहाड़ जेल के जिस सेल में रखा है, वहां उनकी हत्या भी हो सकती है। उस सेल में ऐसे कैदी रखे जाते हैं जिन्होंने कई हत्याएं की है।तिहाड़ जेल प्रशासन का आया जवाबआप प्रवक्ता के इन आरोपों पर तिहाड़ जेल प्रशासन ने खारिज कर दिया है। जेल प्रशासन ने कहा कि मनीष सिसोदिया को उनकी सुरक्षा के मद्देनजर अलग सेल सीजे-1 में रखा गया है। वे जिन कैदियों के साथ हैं, उनमें कोई भी गैंगस्टर नहीं है। सभी अच्छा आचरण करने वाले अपराधी हैं। उनकी सुरक्षा के लिए जेल नियमों के मुताबिक सभी इंतजाम किए गए हैं। उनके आवास के बारे में कोई भी आशंका निराधार है।