सीधी हादसे में 14 की मौत, मृतक आश्रितों को सरकारी नौकरी तो PM का 2 लाख मुआवजे का ऐलान

सीधी: मध्य प्रदेश के रीवा-सतना जिलों की सीमा पर शुक्रवार को एक ट्रक ने सड़क हादसे में किनारे खड़ी तीन बसों को टक्कर मार दी, जिससे 14 लोगों की मौत हो गई थी और 60 अन्य घायल हो गए थे. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सड़क हादसे पर दुख जताया और पीड़ित परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की. पीएम मोदी ने प्रत्येक मृतक के परिजनों को 2 लाख और हादसे में घायल परिजनों को 50 हजार मुआवजा दिए जाने की घोषणा की.
पीएम मोदी ने कहा कि एमपी के सीधी में हुए बस हादसे ने मन को झकझोर कर रख दिया है. इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उन लोगों के साथ हैं जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है. मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं. फिलहाल, मप्र सरकार सभी प्रभावितों को हर संभव सहायता प्रदान कर रही है. इस बीच प्रत्यक्षदर्शियों ने दावा किया कि ये हादसा शुक्रवार रात करीब 9 बजे बरखड़ा गांव के पास सुरंग के बाहर हुआ.
क्या है मामला?
दरअसल, बसों में सवार लोग सतना शहर में कोल महाकुंभ से लौट रहे थे. बताया जा रहा है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शबरी माता जयंती के अवसर पर दिन में इस कार्यक्रम को संबोधित किया था. इस दौरान अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह डॉ राजेश राजोरा ने बताया कि 14 लोग मारे गए और 60 अन्य घायल हो गए. घायलों में तीन की हालत बेहद गंभीर है.
वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रीवा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में घायलों से मिलने के बाद कहा कि सीमेंट लदा ट्रक टायर फटने के कारण अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खड़ी तीन बसों से टकरा गया. वहीं, टक्कर लगने से एक बस पलट गई और दूसरी बस दूसरी तरफ पलट गई जिसके कारण यात्रियों को चोटें आईं.
ये भी पढ़ें: MP: सीधी में बस और ट्रक की टक्कर में 8 लोगों की मौत, 50 से ज्यादा घायल
संकट की घड़ी में CM शिवराज पीड़ित परिवार के साथ खड़े
हालांकि, सीएम शिवराज चौहान ने इस घटना को बहुत दुर्भाग्यपूर्ण घटना करार दिया है.उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर मरीजों को बेहतर इलाज के लिए विमान से रीवा से बाहर ले जाया जाएगा. उन्होंने हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया. साथ ही चौहान ने यह भी कहा कि मृतक व्यक्तियों के परिजनों को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी.
ऐसे में गंभीर रूप से घायलों को दो-दो लाख रुपये और सामान्य रूप से घायलों को एक-एक लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा.उन्होंने कहा कि मृतक के परिजनों को कई कल्याणकारी योजनाओं का लाभ भी दिया जाएगा.
शबरी महोत्सव से लौट रही थीं बसें
इस दौरान प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ट्रक ने बसों को पीछे से टक्कर मारी गई थी. उनमें से एक बस पलट कर खाई में जा गिरी. उन्होंने बताया कि दुर्घटना रात करीब 9 बजे मोहनिया सुरंग के पास हुई. प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि बसों को इसलिए रोका गया था. ताकि महाकुंभ से लौट रहे यात्रियों को खाने के पैकेट दिए जा सकें.
रीवा और सीधी जिला अस्पताल को रखा गया अलर्ट मोड पर
इस मामले में अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह डॉ राजेश राजोरा ने बताया कि डीएम और एसपी सहित सीधी और रीवा जिले के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं. जहां दोनों बसों के सभी यात्रियों को निकाल लिया गया है. पुलिस अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और की मध्य प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा भी सतना से घटनास्थल पर पहुंच गए थे. चौहान ने अधिकारियों को घायलों के इलाज की निगरानी करने का निर्देश दिया है और उन्हें रीवा मेडिकल कॉलेज और सीधी जिला अस्पताल को अलर्ट पर रखने को कहा है.
गृह मंत्री अमित शाह ने जताई संवेदना
इसके अलावा केंद्रीय गृह मंत्री ने भी ट्वीट कर हादसे पर दुख जताया है. साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने हादसे पर दुख जताया है. वहीं, कमल नाथ ने एक ट्वीट में कहा कि दुर्घटना में 50 से अधिक यात्री घायल हो गए, जबकि सिंह ने एक ट्वीट में दुर्घटना में मरने वालों के परिजनों को 50-50 लाख रुपए और घायलों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की.
ये भी पढ़े: 5 दिन बाद जिंदगी की जंग हार गईं प्रिंसिपल, छात्र ने पेट्रोल डालकर लगा दी थी आग
(इनपुट- भाषा)